11 नवंबर 2017

BNMU: कुलपति ने किया जर्जर एच एस कॉलेज का निरीक्षण


कुलपति डॉ अवध किशोर राय ने शनिवार कॊ एच एस कालेज, उदा किशुनगंज का औचक निरीक्षण किया और छात्रों  व शिक्षकों कॊ सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षा के चार स्तंभ हैं- शिक्षक, विद्यार्थी, कर्मचारी और अभिभावक।


सभी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का सम्यक् निर्वहन करें। सभी अपने स्वधर्म का पालन करें। पूरी निष्ठा एवं समर्पण के साथ अपने-अपने निर्धारित कर्म करें। विद्यार्थी पढाई पर ध्यान केंद्रित करें। शिक्षक भी शिक्षण एवं शोध में दिनरात लगे रहें। कर्मचारी ससमय अपने फाइलों का निष्पादन करें। अभिभावक भी सजग रहें और शिक्षा के विकास में सकारात्मक भूमिका निभा कर सहयोग करें ।

जून 1956 में स्थापित यह कालेज  जिले के सबसे पुराने कालेजों में एक है और यह उदाकिसुनगंज सबडिविजन का एकमात्र अंगीभूत महाविद्यालय है. यहाँ केवल कला संकाय की पढाई होती है और लगभग 3 हजार विद्यार्थी नामांकित हैं।

कुलपति ने कहा कि मधेपुरा के विद्यार्थियों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। वे पठन-पाठन, खेल-कूद, कला-संस्कृति सभी क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन की क्षमता रखते हैं। यहाँ की प्रतिभाओं को समुचित प्रशिक्षण देकर उन्हें निखारने की जरुरत है। युवाओं की उर्जा को सकारात्मक दिशा देने की जरुरत है। उन्होंने विद्यार्थियों से अपील  किया  वे कक्षाओं में आएं। ट्यूशन या कोचिंग कभी भी कालेज की कक्षा का विकल्प नहीं हो सकते हैं। विद्यार्थी अध्ययन के साथ-साथ खेल-कूद आदि सभी क्षेत्रों में आगे आएं। यहाँ के बङे खेल मैदान का समुचित उपयोग हो।

कुलपति ने कहा कि बिहार के दूसरे जिलों मधेपुरा की शिक्षा-व्यवस्था के बारे में गलत धारणा बन गयी है। हमें गलत धारणाओं को बदल देना है। लोग देखें कि हमारे शिक्षक अध्यापन एवं शोध के नये प्रतिमान गढे। नियत समय पर पूरी तैयारी के साथ कक्षा में जाएं। विद्यार्थियों को कक्षा में आने हेतु प्रेरित करें। एक भी विद्यार्थी आए, फिर भी पूरे मन से पढाए। रूटीन का पालन सुनिश्चित करें। जिन विषयों में शिक्षक नहीं हैं, उन विषयों को भी पढाने का प्रयास करें।

कुलपति ने कार्यालय एवं अन्य भवनों की जर्जर स्थिति पर चिंता व्यक्त किया । वर्ग कक्षाओं का निरीक्षण किया और विद्यार्थियों की उपस्थित बढाने पर जोर दिया। उन्होंने परिसर की साफ सफाई कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कालेज के कुल एक सौ एक एकङ भूमि के बारे में जानकारी प्राप्त की। भूमि के अतिक्रमण मुक्त करने के निर्देश दिये।

लेकिन कुलपति के औचक निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य डॉ  वी. एन. विवेका अनुपस्थिति पाए गये। लेकिन नव नियुक्त सहायक प्राध्यापक डॉ. रणधीर कुमार (दर्शनशास्त्र), बप्पा अधिकारी (अंग्रेजी), अजय कुमार (अर्थशास्त्र), आदेशपाल शिव नारायण ठाकुर, बाबू  लाल महतो आदि उपस्थित थे।
 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...