09 अप्रैल 2018

बड़ी सफलता: कोशी के आतंक चार कुख्यात अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार

कोशी में हत्या, लूट, रंगदारी सहित बाइक लूट में आतंक मचाने वाले अन्तरजिला गिरोह के चार कुख्यात अपराधी को  पुलिस ने रविवार की रात दो लोडेड पिस्तौल, दो लूट की बाइक और छह मोबाइल के साथ गिरफ्तार करने मे सफलता पाई है । यह  मधेपुरा पुलिस के लिए बड़ी सफलता है ।


मालूम हो कि मधेपुरा पुलिस ने शनिवार को इस गिरोह के एक सरगना दिलखुश को हथियार के साथ गिरफ्तार किया था लेकिन अन्य अपराधी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए थे

एएसपी राजेश कुमार ने सदर थाना मे आयोजित पत्रकार सम्मेलन मे कहा कि रविवार को एसपी कुमार आशीष को गुप्त सूचना मिली कि सहरसा जिले सौरबजार के कुख्यात अपराधी सुमित यादव गिरोह के चार सदस्य के साथ दो बाइक पर सवार होकर मधेपुरा जिले में रहे हैं, जो किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं. सूचना मिलते ही एसपी ने तत्काल एक स्पेशल टीम  गठित की, जिसमें पुअनि बी० डी० पंडित, संजीव कुमार, सअनि सन्तोष कुमार दीक्षित, अरूण कुमार सिंह, कमांडो अमन कुमार, सोनू कुमार, विकास कुमार को शामिल किया. टीम ने आनन -फानन मे एन एच 107 मधेपुरा-सहरसा पथ के चकला चौक के आसपास नाकेबंदी कर बाइक चेकिंग शुरू किया इसी क्रम में दो बाइक पर सवार चार युवक आ रहे थे कि पुलिस देखकर युवक गाड़ी मोड़ कर भागने की कोशिश करने लगे, पर पुलिस की नाकेबंदी के कारण वे भागने में असफल रहे. पुलिस ने चारों युवक को दबोच लिया ।

एएसपी श्री कुमार ने ताया कि चारों युवक की तलाशी के दौरान दो लोडेड पिस्तौल, दो चोरी की बाइक, छह मोबाइल आदि के साथ बरामद किया. पूछताछ में गिरफ्तार युवक की पहचान सहरसा जिले के सौरबाजार थाना के भवटिया गांव के सुमित यादव, सौरबाजार के अरराहा के चन्दन यादव, सौरबाजार थाना के चंदोर गांव के तरूण यादव और सौरबाजार के कुन्दन साह के रूप में पहचान हुई ।

उन्होने ताया कि गिरफ्तार अपराधियों की जांच में पता चला कि चारों कुख्यात अपराधी हैं जो मधेपुरा, सहरसा और सुपौल जिले में हत्या, लूट, रंगदारी, बाइक लूट के दर्जनों मामले का नामजद आरोपी हैं । उन्होने बताया कि गिरफ्तार सुमित यादव सहरसा जिले के एक राजनेता की हत्या का भी नामजद दमाश  है । एएसपी ने ताया कि गिरफ्तार अपराधी सहरसा के बैजनाथपुर में गिरोह का संचालन करता है और वहाँ से मधेपुरा, सहरसा और सुपौल जिले में अपराधिक घटना को अंजाम देता था. तीनों जिले की पुलिस को उनकी लम्बे समय से तलाश थी ।

उन्होने ताया कि गिरोह 2016 में सुपौल थाना क्षेत्र में हथियार के जखीरा के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ था. 22 फरवरी 2018 को गिरोह ने सहरसा मे ग्राहक सेवा केन्द्र से लाखों रूपये की लूट किया था. गिरोह ने जिले के बिहारीगंज मे एक बाइक लूटी थी जो गत दिन पुलिस ने गिरोह के एक गुर्गे दिलखुश कुमार को लूटी बाइक के साथ गिरफ्तार किया।

उन्होने ताया कि सुमित यादव 2014 में सौरबाजार मे बाबुल हत्या का मुख्य आरोपी और सहरसा, मधेपुरा और सुपौल जिले के कई कांडों में वांछित है । गिरफ्तार कुन्दन साह और तरूण यादव पर विभिन्न थाना मे कई दर्जन मामले दर्ज हैं

कुख्यात
बदमाशों की गिरफ्तारी खबर मिलते ही सहरसा पुलिस की एक टीम मधेपुरा पहुंच कर अपराधियों से पूछताछ की है । इनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है । सूत्रों की मानें तो गिरफ्तार दमाश से पूछताछ उन्होंने कई अपराधिक घटना का खुलासा किया है और साथ ही कई अपने साथी के नाम का खुलासा किया है. पुलिस उन गुर्गे की गिरफ्तारी की तैयारी में है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...