17 अप्रैल 2018

नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह सक्रिय, कोचिंग संचालक हिरासत में

मधेपुरा में बेरोजगार युवक से नौकरी देने के नाम पर रूपये का ठगी करने का एक मामला सामने आया है जिसमें ठगी करने वाला एक कोचिंग का संचालक बताया जाता है

पीड़ित बेरोजगार युवक जिले के सुन्दरपट्टी गांव के निवासी अभिषेक कुमार और शंकरपुर के कलुआ के पिंटू कुमार  ने घटना के सम्बन्ध में बताया कि मधेपुरा बस स्टैंड के पास कैरियर कैम्पस कोचिंग के संचालक शैलेन्द्र कुमार सुमन ने बैंक के सीएसपी मे नौकरी दिलाने के एक लाख रुपए लिया. नौकरी के नाम पर पटना में परीक्षा भी दिया लेकिन परीक्षा के बाद पता चला कि यह ठगी है. और वह नौकरी के नाम पर पैसा ठगने का धंधा करता है। 

इसके बाद वह कोचिंग संचालको रूपये लौटाने के दबाव देता रहा. आखिरकार उसने मात्र चालीस हजार रुपए लौटाया. शेष नहीं देने पर पीड़ित ने सोमवार को संचालक की बाइक रोक लिया यह कहते कि रूपये दो गाड़ी लेकर जाए ।
 
संचालक ने घटना के
बाद थाना पहुंच कर पुलिस को बाइक छीनने की जानकारी दी दिन दहाड़े बाइक लूट की सूचना मिलते ही पुलिस हरकत आयी और बाइक के साथ बेरोजगार अभिषेक को पुलिस थाना लाया तो अभिषेक ने पूरे मामले का खुलासा किया ।

पुलिस ने जब कोचिंग संचालसे पूछताछ की तो खुलासा हुआ कि दोनों युवक नौकरी के लिए जुगाड़ लगाने के कहता था. इसी बीच वह पटना के कुछ लोग से नौकरी की बात की तो वह दोनों को एक लाख में सीएसपी मे नौकरी दिलाने की बात कही. दोनों ने एक लाख रूपया दिया जिसे नौकरी देने वाले युवक को दे दिया. बाद में दोनों ने नौकरी करने से इंकार कर दिया तो उसने चालीस हजार रूपये लौटा दिया ।

फिलहाल पुलिस जाँच में पता चला कि कोचिंग संचालक ने पूर्व में बिहारीगंज में एक बेरोजगार युवक को लाखों का चूना लगाया था पर मामला एक दबंग के हाथ जाने से आखिरकार पैसा लौटना पड़ा ।

फिलहाल ठगी के शिकार बेरोजगार युवक और कोचिंग संचालक पुलिस हिरासत में है । मालूम हो कि शहर में नौकरी दिलाने के नाम पर झाँसा देकर बेरोजगार युवकों को ठगने वाला गिरोह सक्रिय है । थानाध्यक्ष ने ताया कि मामले की जांच की जा रही है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...