20 मार्च 2018

उठनी थी बेटी की डोली, उठ गई पिता की अर्थी: मधेपुरा में गोली मारकर हत्या

मधेपुरा जिले में साठ वर्षीय वृद्ध की अपराधियों ने गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी. घटना सोमवार की रात्रि रतवारा सहायक थाना के गंगापुर लूटना टोला की है.

  
घटना के बाबत मृतक साठ वर्षीय महेंद्र मंडल के पुत्र दरौगी मंडल ने बताया कि घर से लगभग 500 मीटर की दूरी पर स्थित अपने वासा पर उनके पिता एवं मां प्रत्येक दिन की भांति सोए हुए थे. रात के लगभग 1:30 बजे एक आदमी मेरे पिता महेंद्र मंडल को जगाने आया एवं एक आदमी सड़क पर था. मेरे पिता को उठाकर रास्ता बताने को कहने लगा. रास्ता बताने गया तो जबरदस्ती मेरे पिता को धार के पास स्थित पोखर के पास ले गया जहां धक्का-मुक्की भी हुई. इस बीच मेरी मां भी पीछे पीछे गई परंतु गोली की आवाज सुनने पर मेरी मां डरकर भाग गई एवं वासा  पर आकर मेरी मां हल्ला करना शुरू कर दी, जिससे दूसरे वासा पर रह रहे लोग उठ कर आए.

इसके उपरांत लोगों द्वारा घर पर खबर की गई एवं स्थानीय लोगों द्वारा खोजबीन करने पर महेंद्र मंडल का शव पोखर के पास  दिखाई पड़ा, जिसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई. घटनास्थल पर पुलिस ने पहुंचकर छानबीन कर शव को अपने कब्जे में ले लिया. इस बाबत रतवारा थाना अध्यक्ष रणवीर राऊत ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है. अभी तक परिजनों की ओर से आवेदन नहीं दिया गया है आवेदन देने के उपरांत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी फिलहाल शव को पोस्टमार्टम हेतु मधेपुरा भेज दिया गया है.

जहां शहनाइयों की आवाज गूंजने वाली थी वही क्रंदन एवं चीत्कार के वातावरण से पूरा गांव गमगीन हो गया. मृतक महेंद्र मंडल के दो लड़के एवं चार लड़की है. मृतक महेंद्र मंडल का अपनी बेटी के हाथ पीले करने का ख्वाब, ख्वाब बनकर ही रह गया । महेंद्र मंडल की पत्नी रीता देवी के चित्कार से पूरा वातावरण गमगीन था, उस पर से उसकी बिटिया रूदो कुमारी के क्रंदन से आस पड़ोस के लोगों के आंखों से आंसू रोकने से भी रुक नहीं रहे थे. रुदो की शादी 22 मार्च को होने वाली थी जिसकी सारी तैयारी पिता महेंद्र मंडल के द्वारा कर लिया गया था परंतु महेंद्र मंडल अपने हाथों से बिटिया को विदा तो नहीं कर पाई उससे पहले अपराधियों ने उसे गोली से छलनी कर दिया.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...