19 मार्च 2018

प्राकृतिक आपदा से बचाव का तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

बिहार सरकार के आपदा विभाग द्वारा प्राकृतिक एवं कृत्रिम आपदाओं से बचाव को लेकर आपदा जोखिम न्यूनीकरण एवं प्रबंधन विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम मधेपुरा जिले के पुरैनी मुख्यालय स्थित किसान भवन में सोमवार से प्रारंभ हुआ ।


मुखिया, सरपंच एवं अन्य पंचायत प्रतिनिधियों को दिए जा रहे इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ जदयू प्रखंड अध्यक्ष शलैन्द्र यादव ने किया। प्रशिक्षण के दौरान कुरसंडी पंचायत के मुखिया सह मास्टर ट्रेनर रजनीश कुमार उर्फ बब्लु यादव ने प्रशिक्षण में उपस्थित प्रखंड के सपरदह, कुरसंडी एवं दुर्गापुर पंचायत के जनप्रतिनिधियों को ट्रेनिंग दी। 

इस दौरान उन्होंने कहा कि आपदाओं से निपटने में पंचायत प्रतिनिधियों के भूमिका महत्वपूर्ण है। आपदाओं के जोखिम की पहचान एवं न्यूनीकरण तथा प्रबंधन में समुदाय की महती भूमिका है। समुदाय को इस महती भूमिका के निर्वाहण हेतु जागरूक एवं सक्षम बनाने का कार्य पंचायत प्रतिनिधियों के माध्यम से बेहतर तरीके से हो सकता है। उन्होंने कहा कि  बिहार में सबसे ज्यादा आपदा बाढ़ के रूप में होती है। एनडीआरएफ की टीम आपदा के समय में वहीं पहुंचती है। जहां सरकार के तरफ से राष्ट्रीय आपदा घोषित होती है। इसलिए प्रशिक्षण प्रत्येक आदमी को लेना चाहिए। उन्होंने बाढ़ के समय थर्मोकोल से बनी लाईफ जैकेट, केले के पेड़ तथा बांस का उपयोग करके कैसे लोग सुरक्षित स्थान पर जाते हैं इसकी जानकारी दी। बाढ़ के समय में सांप तथा विषैले जीव जन्तुओं से बचने का उपाय भी बताया।  इसके अतिरिक्त भूकंप, ओलावृष्टि, चक्रवाती तूफान, नौका दुर्घटनाएं, वज्रपात, नदियों तालाबों में डूबने की घटनाएं, अग्निकांड, शीतलहर, लू, सड़क दुर्घटना, असमय भारी वर्षा आदि आपदाओं से बचने के उपाय बताए ।

इस अवसर पर मास्टर ट्रेनर सरपंच राधेश्याम दास, कंचन देवी, प्रकाश चन्द्र यादव, पमपम सिंह, पुष्पेन्द्र ठाकुर, मो0 नेजाम, राधा देवी, मो0 सज्जाद, कमल किशोर यादव सहित दर्जनों जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...