12 मार्च 2018

घायल रिटायर्ड शिक्षक की मौत: आक्रोशित ग्रामीणों ने छः घंटे तक किया एनएच 107 जाम

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज थानाक्षेत्र के जीतापुर के निकट रामसिंह टोला पिछले  गुरूवार की देर शाम रिटायर्ड शिक्षक नागेश्वर यादव को अपराधियों ने गोली मार दी थी जिनका इलाज दौरान रविवार की रात मौत हो जाने से ग्रामीण आक्रोशित हो गए.


ग्रामीणों ने सोमवार को मधेपुरा पुर्णिया एनएच 107 को दिन दस बजे चार तक करीब छः घंटे तक जाम रखा।  स्थानीय लोगों का कहना था कि चार दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस हत्यारे को गिरफ्तार नहीं कर पायी। जबकि इस घटना को लेकर चार लोगों को नामजद और तीन अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिक दर्ज किया गया है। प्रशासनिक उदासीनता के कारण हत्यारे की गिरफ्तारी संभव नहीं हो पाई है। आक्रोशित लोगों ने अविलंब नामजद अभियुक्त व तीन अज्ञात हत्यारे की गिरफ्तारी और मामले में स्पीडी ट्राइल चलाने की माँग कर रहे थे। बताया गया कि पूर्व से ही नागेश्वर यादव और पवन यादव, राजो यादव, धनेश्वर यादव और कुंदन यादव के बीच भूमि विवाद चल रहा था। जिसको लेकर करीब दो तीन बार मारपीट की घटना भी हुई थी। बीते गुरूवार की देर शाम भतखोड़ा बाजार से घर जा रहे रिटायर्ड शिक्षक नागेश्वर यादव को गोली मार दिया गया था। गोली शरीर में फंसे रहने के कारण परिजनों ने इलाज मधेपुरा, सहरसा और पटना ले गया।  पटना मे  इलाज के दौरान  उनकी मौत हो गई। मौत की खबर ग्रामीणों से आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों ने सोमवार को 12 बजे जीतापुर बाजार में एनएच 107 को जाम कर पूरी तरह आवागमन बाधित कर दिया। इस दौरान सड़क के दोनों तरफ बड़े व छोटे वाहनों की लंबी कतार लग गई। आम जनजीवन को काफी परेशानी हुई। 

इस बीच स्थानीय समाजसेवी के समझाने और इंस्पेक्टर जय प्रकाश चौधरी के आश्वासन पर लोगों ने करीब साढ़े पांच बजे सड़क जाम हटाया। इंस्पेक्टर ने कहा कि हत्यारे के घर कुर्की जब्ती और गिरफ्तारी जल्द कि जाएगी। आश्वासन के बाद लोगों जाम समाप्त हुआ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...