29 मार्च 2018

मधेपुरा में कोचिंग चला रहे गुरु की गंदी बात: गुरु और शिष्या का रिश्ता हुआ तार-तार

मधेपुरा में एक बार फिर हुआ गुरु और शिष्या का रिश्ता तार-तार, कोचिंग चला रहे एक 42 वर्षीय शादी-शुदा दो बच्चे के बाप गुरु ने की 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली अपनी नाबालिग शिष्या के साथ गंदी बात.


दरअसल कोचिंग चला रहे इस 42 वर्षीय शादी-शुदा दो बच्चे के पिता ग्रामीण शिक्षक ने बेटी समान अपनी ही शिष्या पर डाला प्रेम जाल और शादी की प्रलोभन देकर तीन माह पूर्व पड़ोस में  रहने वाली 9वीं कक्षा में पढ़ रही नाबालिग छात्रा को लेकर फरार हुआ था. नाबालिग छात्रा के परिजनों ने शंकरपुर थाना में आरोपी शिक्षक समेत गाँव के हीं तीन लड़कों पर अपहरण का मामला दर्ज कराया. जांच में जुटी पुलिस कर रही थी इस मामले में गहन तफ्तीश,लेकिन पुलिस दबिश के कारण तीन माह बाद खुद नाबालिग छात्रा कुमारी मासूम (काल्पनिक नाम) घर लौटी, जहाँ से पुलिस ने मासूम को बरामद कर किया पूछताछ और करवाया कोर्ट में 164 का बयान दर्ज.

बता दें कि मधेपुरा जिले के शंकरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत झरखाहा गाँव में पिछले तीन माह पूर्व गाँव के हीं कोचिंग चला रहे प्रदीप कुमार नामक 42 वर्षीय शादीशुदा दो बच्चे के पिता ने अपने पड़ोस के रहने वाली 9वीं कक्षा में पढ़ रही मासूम पर अपना प्रेम जाल फेंका और ग्रामीण शिक्षक ने अपने शिष्या के साथ की गंदी बात, दिया शादी का प्रलोभन और फिर शिष्या को गाँव से लेकर फरार हुआ था. मुकदमा के जांच में जुटी पुलिस ने तीन माह बाद छात्रा को बरामद कर पूछताछ की और मधेपुरा व्यवहार न्यायालय में 164 का बयान दर्ज करवाया. बरामद नाबालिग छात्रा ने पुलिस के कहा कि वह अपने मर्जी से गाँव छोड़कर प्रदीप नामक शख्स के साथ फरार हुई थी, अब प्रदीप के साथ जीने मरने की कसम खाई है. कहा कि एक माह पूर्व उतर प्रदेश के बनारस के कोर्ट में उनलोगों ने शादी कर ली है. नाबालिग मासूम ने मधेपुरा टाइम्स को दिए अपने बयान में कहा कि चाहे जो हो, पूर्व से शादी-शुदा प्रदीप के साथ हीं रहकर अपनी जिन्दगी गुजारूंगी.

वहीँ परिजन और गाँव के पूर्व मुखिया मो.राशिद की माने तो पिता समान शादीशुदा और दो बच्चे का बाप ग्रामीण शिक्षक मासूम का फर्जी आधार कार्ड व फर्जी पेपर बनवा कर बनारस कोर्ट में शादी किया है. परिजनों को व्यवहार न्यायालय पर भरोसा है.

वहीँ इस मामले में मधेपुरा के एएसपी राजेश कुमार परिजनों को फर्जी आधार कार्ड व फर्जी पेपर की जांच का हवाला देते हुए आरोपी ग्रामीण शिक्षक पर कार्रवाई का भरोसा दे रहे हैं. एएसपी ने मधेपुरा टाइम्स से कहा तीन माह पूर्व शंकरपुर थाना क्षेत्र के झरखाहा गाँव से मासूम अपने गुरु के साथ फरार हुई थी. पहले से आरोपी शिक्षक समेत अन्य लोगों के विरुद्ध कुर्की जप्ती की प्रक्रिया की तैयारी की जा रही थी, अब कोर्ट के आदेश पर आगे की कार्रवाई होगी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...