16 फ़रवरी 2018

तेजस्वी यादव को सुपौल के अतिथि गृह में समुचित सुविधा उपलब्ध नहीं कराने पर हंगामा


पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को सुपौल के स्थानीय सरकारी अतिथि गृह में  समुचित सुविधा उपलब्ध नहीं कराये जाने के विरोध में राजद कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को मुख्यालय स्थित लोहिया नगर चौक एवं सुपौल-सहरसा पथ को जाम कर जमकर हंगामा किया.
 
इस दौरान मार्ग पर दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लगी रही. जाम के कारण कार्यालय जा रहे कई अधिकारियों को भी मार्ग बदलना पड़ा. जाम स्थल पर सदर थाना पुलिस के साथ पहुंचे सदर एसडीएम एनजी सिद्दिकी, एसडीपीओ विद्यासागर, पुलिस निरीक्षक राजेश कुमार, थानाध्यक्ष वासुदेव राय  जाम में शामिल राजद कार्यकर्ताओं से जाम समाप्त करने की अपील करते रहे लेकिन दर्जनों की संख्या में मौजूद कार्यकर्ता अपने मांगों पर अडिग रहे. बाद में एसडीएम द्वारा दोषी के विरूद्ध कार्रवाई का आश्वासन दिये जाने के बाद जाम समाप्त हुआ.

जिला अतिथि गृह में कुव्यवस्था का लगाया आरोप: राजद नेता अजय कुमार अजनबी, प्रो राजेंद्र प्रसाद यादव एवं अनोज कुमार आर्य के नेतृत्व में जाम कर प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता जिला प्रशासन सहित स्थानीय विधायक व मंत्री पर भेदभाव का आरोप लगाते जम कर नारेबाजी कर रहे थे. प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे राजद नेताओं ने बताया कि गुरूवार की रात्रि विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव जिला अतिथि गृह में विश्राम के लिए रूके थे. इसके लिए प्रशासन के द्वारा उनके ठहरने के लिए सर्किट हाउस में कमरा आवंटन कराया गया था. जहां बिजली एवं पेयजल की समुचित व्यवस्था नहीं की गई थी. नेताओं ने बताया कि इससे पूर्व भी समाजवादी नेता शरद यादव के साथ भी अतिथि गृह आवंटन मामले में भेदभाव किया गया था. प्रशासन के भेदभाव नीति को लेकर वे लोग जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं. बताया कि बिजली व पेयजल की समुचित व्यवस्था को लेकर कई बार स्थानीय अधिकारियों से दूरभाष पर संपर्क साधा गया. लेकिन अधिकारियों द्वारा इस दिशा में कोई कार्यवाही नहीं की गयी. काफी देर बाद एसपी मृत्युंजय कुमार चौधरी के पहल पर सुविधा बहाल की गई. अतिथि गृह के जबावदेह अधिकारी व कर्मी के विरूद्ध कार्रवाई का भरोसा सदर एसडीओ के द्वारा दिया गया. जिसके
बाद करीब तीन घंटे के बाद जाम समाप्त करा कर आवागमन बहाल की जा सकी.

पिपरा विधानसभा क्षेत्र के विधायक सह जिला राजद अध्यक्ष यदुवंश कुमार यादव ने स्थानीय अतिथि गृह में हुई घटना को जिला प्रशासन की साजिश करार दिया है. उन्होंने कहा कि साजिश के तहत नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव को अतिथि गृह में प्रवेश देने में विलंब किया गया एवं प्रवेश के बाद पानी आदि की समुचित व्यवस्था नहीं की गयी. उन्होंने घटना की आलोचना करते हुए कहा कि इस प्रकार का घटना प्रजातंत्र की हत्या करने के समान है. उन्होंने विधानसभा में इस मुद्दे को उठाने की बात कही है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...