29 मई 2016

शिक्षा मनीषी कीर्ति बाबू की प्रपौत्री और मधेपुरा की बेटी प्रीति ने लहराया मैट्रिक में सफलता का परचम: बिहार में पांचवां स्थान लाकर किया इलाके का नाम रौशन

फिर एक बार फिर मधेपुरा जिले की एक बेटी ने बिहार बोर्ड की परीक्षा के टॉप-10 में अपना स्थान बना कर यह साबित कर दिया कि बेटी भी बेटे से कम नहीं होती है.
     मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत तिलकोड़ा ग्राम निवासी राजीव कुमार की पुत्री प्रीति कुमारी ने बिहार बोर्ड की परीक्षा में टॉप-10 में अपना पांचवां स्थान बना कर न ही अपने माता नयना कुमारी प्रभारी, प्रधानाध्यापिका उत्क्रमित मध्य विद्यालय गोपाली टोला, तिलकोड़ा का नाम रोशन किया बल्कि मधेपुरा जिले में शिक्षा के जोत जगाने वाले के परिवार का नाम फिर रोशन किया है.
      बता दें कि प्रीति के दादा बिजेन्द्र प्रसाद बिन्दु, ठाकुर प्रसाद के पौत्र एवं कीर्ति बाबू के पुत्र हैं. प्रीति बड़े भाई संचय कुमार भी के पी कॉलेज मुरलीगंज में विज्ञान संकाय के अन्तर स्नातक के छात्र है. साथ ही जय शंकर प्रसाद यादव, रिटायर्ड संयुक्त सचिव खाद्य आपूर्ति भी प्रीति के पिता राजीव कुमार के मामा हैं. एक सुशिक्षित परिवार से पहचान रखने वाली प्रीति ने सफलता का श्रेय अपने माता पिता के साथ परिवार के सभी सदस्यों को दिया.
   प्रीति सिमतुल्ला जमुई से बिहार माध्यमिक बोर्ड की परीक्षा में (रोल नं- 1600030 रोल कोड 22050) सम्मिलित हुई थी. बिहार बोर्ड की परीक्षा मे कुल 500 अंक की परीक्षा मे 478 अंक प्राप्त किया जो 95%6 प्रतिशत है. बिना वक्त गंवाएं अभी वह कोटा में  रह कर आईआईटी की तैयारी कर रही है.
   मधेपुरा टाइम्स को मोबाइल पर दिये साक्षात्कार मे प्रीति ने सबसे पहले बिहार में टॉप नहीं करने पर अफ़सोस जताया और कहा कि अपने पांचवें पोजीशन से वो खुश तो है, पर बहुत खुश नहीं. बताया कि आगे उसे JEE की परीक्षा में भी बेहतर ढंग से अपना स्थान सुनिश्चित करना है. साथ ही ऐसे माता पिता को यह संदेश देना चाहती है कि बेटी भी वह सब कुछ कर सकती हैं जो एक बेटा कर सकता है, बेटी और बेटे में फर्क न करें. घर के बड़ों के प्रति अथाह सम्मान रखने वाली प्रीति मधेपुरा टाइम्स से कहती है कि यदि आप मेरे बूढ़े दादा जी कीर्ति बाबू की भी तस्वीर मधेपुरा टाइम्स पर लगा सकें तो मुझे बेहद ख़ुशी मिलेगी और लगेगा कि मैं उन्हें अब भी दिल से याद कर रही हूँ.
    जाहिर है, कोसी की बेटियां एक तरफ जहाँ खुद बुलंदियों को छू रही हैं वहीँ बेहतरीन संस्कार भी उनमें दिखता है और ऐसे में माँ-बाप समेत परिजन क्यूं न ऐसी बेटियों पर गर्व करे?

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...