01 अप्रैल 2018

समस्या: तीन माह से एटीएम खराब, बढ़ी उपभोक्ताओं की मुश्किलें

मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड के अंतर्गत आने वाले कई दर्जन गावों के बीच पुरैनी बाजार में सेन्ट्रल बैंक का एक एटीएम लगा हुआ है जो काफी दिनों से बंद पड़ा हुआ है, जिससे उपभोक्ताओं को रूपयों के लिए काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

आमजनों का कहना है की एटीएम तो आम आदमी की सुविधा के लिए लगाए जाते हैं, लेकिन मुख्यालय बाजार में महज एक सेन्ट्रल बैंक की एटीएम है उसमे भी काफी दिन से ताला लटका हुआ है. एटीएम बंद रहने से उपभोक्ताओं की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। पुरैनी मुख्यालय बाजार में तीन बैंक हैं, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सेन्ट्रल बैंक आफ इंडियाउत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की शाखा है लेकिन एटीएम महज एक सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया की है । वो भी अधिकांशत: बीमार और बंद ही पड़ा रहता है । करीब तीन माह से एटीएम सेवा पूर्णत: ठप है। बाजार के व्यवसायी सहित आमजन एटीएम  मशीन से पैसे की लेने देन के लिए मुख्यालय से 10 से 15 किलोमीटर तक का सफर करते हैं। वही एटीएम बंद रहने का भरपूर फायदा सीएसपी संचालक और साइबर कैफे वाले उठा रहे है जो प्रति ट्रांजैक्शन मनमाना पैसा लेकर चांदी काट रहे हैं । 

करीब तीन माह से पूर्णत: ठप एटीएम मशीन के बाबत सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक पुष्पेन्द्र पुष्पम से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि एटीएम का संचालन निजी कम्पनी के द्वारा होता है. हाल ही में एक नई कम्पनी को एटीएम संचालन का अनुबंध मिला है। ठप पड़े एटीएम मशीन के बाबत हमने वरीय अधिकारियों को सूचना दी है, जल्द ही एटीएम की सुविधा बहाल हो जाएगी । शाखा प्रबंधक ने बताया कि आमजनों के हितार्थ और बेहतर सुविधा देने के लिए सेन्ट्रल बैंक के सभी सीएसपी केन्द्र पर माइक्रो एटीएम मशीन उपलब्ध है वहां से ट्रांजेक्शन कर सकते है। 

बहरहाल जो भी हो, मुख्यालय बाजार को एक और एटीएम की दरकार है जिसको लेकर स्थानीय व्यवसायी मनोज केडिया, संजय सहनी, नारायण चौधरी, युवा नेता गौरव राय, विलाश शर्मा, अफरोज आलम, संजय सहनी, जूबैर आलम, राजेश मोदी, विश्वनाथ सहनी सहित दर्जनो अन्य ने मुख्यालय बाजार में एक और एटीएम मशीन लगाए जाने की  मांग की है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...