18 मार्च 2018

इप्टा के द्वारा मनाई गई कोशी के मालवीय कीर्ति नारायण मंडल की 102 वीं जयंती

भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा)  मधेपुरा द्वारा कोशी के मालवीय कीर्ति नारायण मंडल की 102 वीं जयंती पीएस कॉलेज परिसर स्थित स्मारक स्थल पर मनाया गया. इस मौके पर मधेपुरा के बुद्धिजीवियों द्वारा उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया.


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए. शिक्षाविद् और इप्टा के संरक्षक मुख्य संरक्षक डॉ. श्यामल किशोर यादव ने कहा कि कीर्ति बाबू ने कोसी और सिमांचल के इलाके में 100 से अधिक स्कूल और कॉलेज खोल कर इस इलाके में शिक्षा का अलख जगाया. उन्होने कहा कि जब एक विद्यालय खुलती हैं तो एक कारागार बंद हो जाता है. कीर्ति बाबू ने इस दिशा में पहल की जिसे हमे आगे बढ़ाना चाहिए. डॉ. भूपेंद्र मधेपुरी ने कहा कि कीर्ति बाबू को जानने के लिए हमें बुद्ध, नानक, कबीर को जनना होगा. उन्होने कोसी और सिमांचल के ऊसर वन में शिक्षा का दीप जलाया. 

इप्टा संरक्षक दशरथ प्रसाद सिंह ने कहा कि कीर्ति बाबू मालवीय से कम नहीं थे. यदि वे उत्तर प्रदेश या दक्षिण भारत मे जन्मे होते तो देश के हर चौक चौराहे पर उनकी प्रतिमा होती. 

कार्यक्रम में इप्टा संरक्षक और हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. विनय कुमार चौधरी, डॉ. सिद्धेश्वर कश्यप, डॉ. बी के दयाल, डॉ. पीएन सिंह, डॉ. एम आई रहमान, डॉ. मधुसूदन यादव, इप्टा प्रदेश सचिव सुभाष चंद्र, उपाध्यक्ष आशीष सोना, धीरज कुमार आदि उपस्थित थे. कार्यक्रम की अध्यक्षता इप्टा अध्यक्ष डॉ. नरेश कुमार ने किया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...