19 फ़रवरी 2018

जूते-मौजे में परीक्षार्थी का प्रवेश नहीं: मैट्रिक परीक्षा में कदाचार पर रहेगा पूरा अंकुश

मधेपुरा जिले में 21 से 28 फरवरी तक मैट्रिक की परीक्षा लगातार दोनों पालियों में होगी । इसके लिये प्रशासनिक तैयारी पूरी हो चुकी है ।


इंटरमीडिएट के समान मैट्रिक की भी परीक्षा कदाचार मुक्त ली जायेगी. इसी संदर्भ में सोमवार कॊ जिलाधिकारी मु सोहैल ने केन्द्राधीक्षकों और दंडाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए कहा कि यह परीक्षा पूरी तरह कदाचार मुक्त और त्रुटिविहीन लेना है । इसके लिये प्रशासन पूरी तरह तत्पर है और आप लोगों से भी यही उम्मीद है कि पूरा सहयोग देंगे।

इंटर की परीक्षा में स्थानीय केशव बालिका उच्च विद्यालय कॊ पिंक केन्द्र बनाया गया था जहाँ मात्र छात्रायें परीक्षा दे रही थी । इस केन्द्र पर चपरासी से लेकर अधीक्षक, पुलिस और दंडाधिकारी तक महिलायें थी । इस केन्द्र पर सर्वश्रेष्ठ परीक्षा हुई और कोई निष्काषित भी नही हुआ । इस केन्द्र पर मात्र एक पुरुष सहायक शिक्षक उपाधीक्षक के रुप में  पदस्थापित थे और उन्होंने भरपूर मेहनत भी की । इस पिंक सेंटर की सफलता से प्रोत्साहित होकर इस बार केशव बालिका उच्च विद्यालय के अतिरिक्त रास बिहारी उच्च विद्यालय, टी पी कालेजियेट स्कूल और उदाकिशुनगंज स्थित बालिका विद्यालय कॊ भी पिंक परीक्षा केन्द्र बनाने का निर्णय लिया गया ।

बैठक में बताया गया कि जिला मुख्यालय में 26 और उदाकिशुन गंज में 07 परीक्षा केन्द्र हैं । उदाकिशुनगंज के सभी सात केन्द्र छात्राओं के लिये है जबकि मधेपुरा के ग्यारह केन्द्र छात्राओं के लिये है ।

जिलाधिकारी ने यह स्पष्ट तौर पर कहा कि हर हाल में कदाचार मुक्त  परीक्षा लेनी है और इसमें कहीँ कोई चूक बर्दाश्त नही की जायेगी । उन्होंने दंडाधिकारियों कॊ निर्देश दिया कि केन्द्र के दो सौ मीटर तक किसी कॊ नही फटकने दें और अगर कहीँ कोई विरोध हो तो प्राथमिकी दर्ज ज़रूर करावे । पहले दिन ज्यादा चौकस रहें और किसी कॊ भी न तो परीक्षा अवधि में केन्द्र में प्रवेश करने दें और पौने दस बजे के बाद कोई भी बाहर नही निकले, चाहे वह पुलिस पदाधिकारी या वीक्षक या अन्य कोई कर्मी हो । केन्द्र में पेय जल की पर्याप्त व्यवस्था हो और जूते-मौजे में कोई परीक्षार्थी अंदर प्रवेश नही करेगा ।

बैठक में निदेशित किया गया कि सभी केन्द्र के अधीक्षक एक दिन पूर्व सभी वीक्षक कॊ केन्द्र में बुलाकर बैठक कर उन्हें विभिन्न औपचारिकताओं के साथ कदाचार मुक्त और त्रुटिविहीन परीक्षा का प्रशिक्षण देंगे जिसमें सभी वीक्षक आवश्यक रुप से भाग लेंगे । अगर कोई अनुपस्थित होंगे तो उनके विरुद्ध कारवाई होगी ।

बैठक में पुलिस अधीक्षक ने यह आश्वस्त कराया कि परीक्षा कार्य में पर्याप्त पुलिस व्यवस्था लगाई गई है । अंदर और बाहर की लगातार चौकसी जारी रहेगी । एच एस कालेज, उदाकिशुनगंज के केँद्राधीक्षक डॉ बी एन विवेका कॊ मेडिकल ग्राउन्ड पर उक्त कार्य से मुक्त कर किसी अन्य प्राध्यापक कॊ केन्द अधीक्षक बनाने का भी निर्देश जिलाधिकारी ने दिया ।

बैठक में उप विकास आयुक्त मुकेश कुमार, दोनो अनुमंडल के एस डी ओ, डी इ ओ सहित सभी पदाधिकारी भी उपस्थित थे । सबों में इंटर परीक्षा में कदाचार पर पूरी तरह अंकुश लगाने के बाद अब इस चुनौती कॊ स्वीकार करने के प्रति उत्साह भी देखा गया ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...