04 फ़रवरी 2018

इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने किया स्वास्थ मंत्री और सिविल सर्जन का पुतला दहन

मधेपुरा के इंजीनियरिंग कॉलेज गेट के पास हाल में ही सदर अस्पताल में हुई सत्यजीत की मौत के दोषियों पर अभी तक कार्रवाई नहीं होने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री तथा सिविल सर्जन का पुतला दहन कर जमकर नारेबाजी किया।

छात्रों का कहना था कि सत्यजीत की मृत्यु नहीं, बल्कि हत्या हुई. सात दिन होने जा रहे हैं, मगर अभी तक दोषियों के ऊपर कोई करवाई नहीं हुई है. सत्यजीत का फर्जी पोस्टमार्टम रिपोर्ट बना कर सत्यजीत के परिजनों एवं सहपाठियों को गुमराह किया जा रहा है। जब जिलाधिकारी को पता चल गया था और डीएम साहब तक ने कहा था कि सत्यजीत की मृत्यु डॉक्टर की लापरवाही की  वजह से हुई है। ये बात हर किसी को पता चल गई है कि सत्यजीत के शरीर मे हीमोग्लोबिन मात्र 3.7 थी. ये सीधी तौर पर चिकित्सकों की लापरवाही को दर्शाता है फिर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। 

छात्रों का कहना है कि जब तक सत्यजीत को न्याय नही मिल जाता है, हमलोगों का आंदोलन जारी रहेगा। बताया गया कि इस घटना को लेकर तकनीकी छात्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मो. गुलफराज़ ने मुख्यमंत्री बिहार, मंत्री विज्ञान एवं प्रावैधिकी, स्वास्थ्य विभाग को उच्च स्तरीय जांच करवाने को लेकर पत्र भी लिखा है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...