07 फ़रवरी 2018

ताकि शिक्षा का अधिकार मिले: अब प्राथमिक विद्यालय में संचालित होगा आंगनबाड़ी केन्द्र

बच्चों के प्रारंभिक स्तर पर ट्रांजिस्न (छोड़ना ) को  सुलभ करने एवं सर्वव्यापी नामांकन सुनिश्चित करने के उद्देश्य एवं शिक्षा के अधिकार कानून के तहत अब बच्चों को अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन से जोड़ने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन अब प्राथमिक विद्यालयों में किया जायेगा.


महिला एवं बाल विकास मंत्रालय व मानव संसाधन की ओर से यह योजना तैयार की गयी है. इसके लिए  समेकित बाल विकास सेवा योजना (आईसीडीएस) के तहत संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को नजदीक के प्राथमिक विद्यालयों में शिफ्ट किया जायेगा. यानी जिस टोला में आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किये जा रहे हैं. अब उसी टोला में संचालित प्राथमिक विद्यालय में उसका संचालन किया जायेगा.  

12 फरवरी तक मांगी गयी है सूची: बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से आंगनबाड़ी केंद्रों और उसके निकटतम विद्यालय की वर्तमान स्थिति की जानकारी मांगी गयी है. इसके लिए परिषद की अोर से जारी फार्मेट पर 12 फरवरी तक दोनों केंद्रों की स्थिति की जानकारी दी जानी है. फार्मेंट के तहत प्रखंड का नाम  आंगनबाड़ी केंद्रो का नाम  एवं क्रमांक, आंगनबाड़ी केंद्र वर्तमान में कहां संचालित है. अपने भवन या सामुदायिक भवन में. दूसरे कॉलम में भी कई जानकारियां देनी हैं. 

इस बाबत जानकारी देते हुए मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड के वरीय बीआरपी मणि राम ने बताया कि बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के जारी पत्र के आलोक में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्रारंभिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान के द्वारा प्रखंड संसाधन केन्द्र को पत्र जारी कर रिपोर्ट मांगी गई है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...