13 जनवरी 2018

बीएनएमयू की स्थापना के 25 वर्षों बाद पहली बार फरवरी के अंत तक होगा छात्र संघ चुनाव

बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव कराने हेतु राज्यपाल सचिवालय का पत्र पत्रांक बीएसयू-42/2017-87/जीएस(1), दिनांक 12 जनवरी 2018 प्राप्त हुआ है। 


इसके माध्यम से राज्यपाल सचिवालय में ओएसडी (न्यायिक) पी. सी. चौधरी ने सभी विश्वविद्यालयों को फरवरी 2018 तक छात्र संघ चुनाव संपन्न कराने के निर्देश दिये हैं।

उक्त पत्र के आलोक में भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा में छात्र संघ चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गयी है। कुलपति डॉ. अवध किशोर राय ने कहा है कि विश्वविद्यालय राजभवन के निर्देशों के अनुरूप चुनाव संपन्न कराने हेतु प्रतिबद्ध है। फरवरी के अंत तक निर्देशानुसार हरहाल में चुनाव संपन्न होगा। इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। गत 14 दिसंबर को ही विश्वविद्यालय स्तर पर एक  सात सदस्ययी छात्र संघ चुनाव समिति गठित की जा चुकी है। प्रतिकुलपति डाॅ. फारूक अली अध्यक्ष एवं  छात्र कल्याण अध्यक्ष डॉ. अनिल कांत मिश्र सदस्य-सचिव बनाए गये हैं। अन्य सदस्यों में सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष डॉ. शिवमुनि यादव, स्नातकोत्तर भौतिकी विभाग के अध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार, स्नातकोत्तर राजनीति विज्ञान विभाग के डॉ. जितेन्द्र कुमार सिंह, खेल सचिव डॉ. मनोरंजन प्रसाद एवं पीआरओ डॉ. सुधांशु शेखर के नाम शामिल हैं।

ज्ञात हो कि बीएनएमयू की स्थापना के 25 वर्षों बाद पहली बार छात्र संघ चुनाव होने जा रहा है। कुलपति प्रोफेसर डॉ. अवध किशोर राय ने योगदान के साथ ही छात्र संघ चुनाव की पहल की थी। विश्वविद्यालय ने छात्र संघ चुनाव हेतु प्रारूप सिन्डिकेट से पास कराकर स्वीकृति हेतु राजभवन भेजा था। उसे राजभवन से कुछ संशोधनों के साथ मंजूरी मिल गयी है। इसमें चुनाव हेतु नामांकन, चुनाव प्रचार, मतदान, मतगणना और चुनाव परिणाम की घोषणा अधिकतम दस दिनों में पूरी करना है। साथ ही प्रत्याशी बनने हेतु अधिकतम उम्र निर्धारित किया गया है। यह स्नातक विद्यार्थियों के लिए 22 वर्ष, स्नातकोत्तर, एलएल बी एवं बी. एड. विद्यार्थियों के लिए 25 वर्ष, एलएलएम के विद्यार्थियों के लिए 27 वर्ष, और पी-एच. डी. के लिए 28 वर्ष निर्धारित किया गया है। ऐसे छात्र ही उम्मीदवारों के लिए वर्ग में कम-से-कम 75 प्रतिशत उपस्थित जरूरी है। 

आपराधिक रिकॉर्ड, मुकदमा, सजा या अनुशासनात्मक कार्रवाई वाले छात्र प्रत्याशी नहीं बन सकते हैं। चुनाव में खर्च की अधिकतम सीमा पांच हजार रूपया है। चुनाव में प्रिंटेड पोस्टर, पंपलेट या प्रचार सामग्री की अनुमति नहीं होगी. प्रत्याशी हाथ से लिखे हुये पोस्टर का प्रयोग कर सकेंगे। कोई भी विद्यार्थी एक साथ दो पदों पर चुनाव नहीं लड़ सकेंगे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...