10 जनवरी 2018

मधेपुरा में जंगली मशरूम खाने से आधा दर्जन बीमार, अस्पताल में भर्ती


मधेपुरा जिला के चौसा प्रखंड अंतर्गत घोषई पंचयात के केलाबाड़ी वार्ड नंबर 11 में  जंगली मसरूम (गोबर छता) के सब्जी खाने से एक ही परिवार के आधा दर्जन लोग बीमार  हो गए।  


बेहोशी की अवस्था में सभी लोगों का इलाज चौसा प्राथमिक स्वास्थ केंद्र में चल रहा है. सभी खतरे से बाहर बताया जा रहा है।

बताया जाता है कि चौसा प्रखंड के घोषई पंचायत के वार्ड न0 11 केलाबाड़ी निवासी रघुवीर मंडल ने कभी मसरूम की सब्जी खाया था और आज घर के पीछे जंगली मसरूम दिखा तो खाने की इच्छा हुई और उसने उसे घर लाकर सब्जी बना कर परिवार के आधा दर्जन लोगो ने खाया. धीरे धीरे सभी की तबियत बिगड़ने लगी। तबियत बिगड़ता देख परिजन में हड़कम्प मच गया। आनन फानन में चौसा प्राथमिक स्वास्थ केंद्र लाया गया तथा सभी का उपचार किया गया। जिसे डॉ राजीव रंजन ने खतरे से बाहर बताया। 

रघुवीर मंडल पिता लड्डू मंडल, बिजली देवी पति रघुवीर मंडल, पूनम देवी की बेटी राबरी कुमारी, बेटी 18 वर्षीया दिलजान कुमारी, बेटी 16 वर्षीया मनीषा कुमारी, बेटी 8 वर्ष को अस्पताल में दाखिल कराया गया है । 

जानकारों का मानना है कि मशरूम समझकर लोग जंगली मशरूम का प्रयोग सब्जी के रूप में करने लगते हैं जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. इससे जान भी जा सकती है. इस मौके पर जदयू के नेता गोपाल यादव तथा ग्राम पंचायत घोषई के सरपंच शैलेंद्र प्रसाद यादव ने मौके पर मौजूद थे. खबर लिखे जाने तक सभी लोगों का प्राथमिक उपचार जारी था और किसी भी प्रकार की क्षति नहीं हुई थी।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...