19 जनवरी 2018

शर्मशार शहर: फोटो खींचने का विरोध करने पर चार मनचलों ने की छात्रा की पिटाई

यह घटना मानवता और मधेपुरा को शर्मशार करने वाली है और इसकी जितनी निंदा की जाय कम होगी. शर्म उन लोगों के लिए भी है जो इसे अपनी आँखों के सामने देखते रहे और विरोध तक नहीं किया.

मधेपुरा में आज दिनदहाड़े शहर के स्टेशन चौक के पास चार युवक एक छात्रा को सैंकड़ों लोगों की आँखों के सामने बेल्ट और हाथ-पैर से पीटते रहे. छात्रा ने बचाने की गुहार लगायी लेकिन कोई बचाने के आगे नही आया, लोग तमाशबीन बने रहे. किसी ने युवकों का महज विरोध तक नहीं किया. लेकिन छात्राओं ने हार नही मानी और सड़क जाम कर विरोध दर्ज किया. सूचना मिलते मौके पर कमांडो दस्ता पहुंचे तब तक बहुत देर हो चुकी थी. घटना के बाद युवक भाग निकले । पुलिस ने मामले मे दो लोगों को हिरासत में लिया है ।

मिली जानकारी के अनुसार घटना करीब 11: 30 बजे की है. सहरसा से ट्रेन से परीक्षा देने कुछ  छात्रा मधेपुरा उतरी. स्टेशन से बाहर ने पर एक चाय के दुकान पर तीन-चार मनचले युवक चाय पी रहे थे. इसी बीच युवक बाहर निकले और छात्रा का मोबाइल से फोटो खीचने लगे तो छात्राओ ने फोटो खींचने का विरोध किया और युवक को पकड़कर मोबाइल से फोटो डिलीट करने लगी. इस पर उन युवकों ने बेल्ट और हाथ-पैर से छात्रा की पिटाई शुरू कर दी. इस दौरान सैकड़ो लोग जमा हो गये लेकिन मनचले को रोकना तो दूर किसी ने छात्रा के बचाने के लिए आगे आने की जरूरत नहीं समझी

कुछ लोगों ने इसके आगे की हद पार कर दी और मोबाइल से छात्रा की पिटाई का वीडियो भी बना रहे थे । छात्रा ने इस बचाने की गुहार लगाई लेकिन किसी को आगे आता नहीं देख हिम्मत जुटाते सड़क जाम किया. इसी बीच किसी ने कमांडो को सूचना दी और जब तक कमांडो पहुंची तब तक काफी देर होगी गयी थी। मनचले युवक घटना को अंजाम देने बाद फरार हो गए । छात्रा घटना के बाद परीक्षा देने चली गई ।

इस घटना मधेपुरा में अकेले आने-जाने वाली छात्राओं के बीच मनचलों का खौफ बढ़ गया है. स्थानीय लोग कहते हैं कि स्टेशन चौक पर बाहर से आने वाली छात्राओं के साथ अक्सर छेड़छाड़ होती है. लोग मनचलों का विरोध नहीं करते हैं जिससे उनका दुस्साहस बढ़ता जाता है.

 
दिनदहाड़े ऐसे घटना के बाद लोगों का कहना था कि इसका मतलब है कि मनचलों के मन में पुलिस का खौफ ख़त्म हो गया है. आज की घटना के बाद पुलिस ने चाय दुकानदार और एक युवक को हिरासत में लिया है । हिरासत में रहे युवक का कहना था कि उनका घर पूर्णियां है और वह अपने जीजा के घर आया था. आज घर लौटने के लिए स्टेशन आये थे और भीड़ देखकर खड़े थे, पुलिस पकड़कर ले आयी है । चाय दुकानदर ने ताया इस घटना से उसका कोई लेना देना नहीं है. दुकान पर कई तरह के लोग चाय पीने आते हैं पर कहते हैं कि छात्रा ने चाय दुकानदार से भी मदद की गुहार लगालेकिन उसने भी कोई मदद नही की।

फिलहाल छात्रा के आवेदन पर केस दर्ज किया गया है 
प्रभारी थानाध्यक्ष अरूण कुमार ने ताया कि घटना को लेकर दो लोगों को हिरासत मे लेकर पूछताछ की जा रही है. घटना में चार युवकों के शामिल होने की बात सामने आई है. चारों की पहचान हो चुकी है. चारों शहर के विभिन्न मुहल्ले के रहने वाले हैं गिरफ्तारी के लिए टीम बना दी गई है, किसी भी हालत मे ऐसे मनचले युवक बख्शे नहीं जायेंगे । 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...