26 जनवरी 2018

जबतक देश में शिक्षा नहीं होगी तबतक सशक्त राष्ट्र का निर्माण नहीं हो सकता: डीएम

 शिक्षा किसी राष्ट्र की आत्मा होती है । जब तक देश में शिक्षा नहीं होगी तब तक सशक्त राष्ट्र का निर्माण नही हो सकता है । शिक्षा का निर्माण शिक्षक करते हैं, वही शिक्षक प्रधानमंत्री और पदाधिकारी बनाते हैं ।


ये बाते जेएनभी सुखासन में 69 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडोत्तोलन में बाद शिक्षक, छात्र -छात्राओं और उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी सह अध्यक्ष जेएनभी मो. सोहैल ने कही । उन्होंने शिक्षकों को शिक्षा की जिम्मेदारी समझाते हुए कहा प्रजातंत्र को अक्षुण्ण तथा स्वतंत्रता को बनाये रखने के लिए शिक्षा का अहम योगदान है । उन्होंने कहा कि अभी 45 प्रतिशत आबादी 18 साल से नीचे है । अगर इधर 10 से 15 साल में कोई गलती हुई तो राष्ट्र का निर्माण अवरुद्ध हो जायेगा । उन्होंने शिक्षकों को शिक्षा में अपने अहं को दूर रख कर शिक्षा को लेकर चलने की आवश्यकता पर जोर दिया । उन्होंने अपने संबोधन का समापन जय हिंद जय भारत के जय घोष के साथ किया ।

डीएम के संबोधन से पहले झंडोत्तोलन के बाद सभी सेक्टरों के छात्र छात्राओं ने मार्च पास्ट किया । उसके बाद छात्रों ने स्वागत गान के बाद कंपकपाती ठंड को देखते हुए डीएम श्री सोहैल ने सभी सांस्कृतिक कार्यक्रम दूसरे दिन करने का आदेश दिया । प्राचार्य एके चौधरी के संबोधन और 63वें  स्कूल गेम फेडरेशन ऑफ इंडिया 14 हैंडबॉल के गोल्ड मेडलिस्ट उत्कर्ष राज और 19 वर्ष में भाग लेने वाले चंचल कुमार और अमित कुमार को डीएम और एसपी ने संयुक्त रूप से प्रमाणपत्र देकर छात्रों का मनोबल बढ़ाया ।

मौके पर एसपी विकास कुमार, एएसपी राजेश कुमार, एसडीओ संजय कुमार निराला, डीपीआरओ महेश कुमार पासवान, बीडीओ अजीत कुमार, सीओ कृष्ण कुमार सिंह, थानाध्यक्ष राजेश कुमार 1 मौजूद थे ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...