22 दिसंबर 2017

स्थानीय लैब में HIV पॉजिटिव बताया, एम्स ने किया इंकार: लैब के खिलाफ आवेदन

मधेपुरा में एक गंभीर मामले में  एक जांच घर ने एक रोगी की HIV जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव बताया पर  जब रोगी ने नई दिल्ली के AIIMS में जांच करवाई तो HIV निगेटिव आया है ।

पीडि़त ने जांच घर के खिलाफ सदर थाना मे आवेदन देकर मानसिक शारीरिक और आर्थिक क्षति बताते हुए लैब संचालक के खिलाफ मामला दर्ज करने की गुहार लगाई है ।

मधेपुरा जिले में दर्जनों फर्जी डाक्टर और लैब लंबे समय से गोरखधंधा में उतरे हुए हैं और कई बार फर्जी डाक्टर के हाथों रोगी की जान भी गयी है. किसी बड़ी घटना के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग कार्रवाई की बात कर जांच तो शुरू करती है पर मामला ठंढा होते ही जांच और कार्रवाई भी ठंढे बसते में चला जाता है.

 
मधेपुरा सांसद ने भी जिले सहित पूरे प्रदेश में फर्जी डाक्टर और लैब के खिलाफ न सिर्फ आन्दोलन कर रहे बल्कि उन्होंने संसद में भी मामला उठाया है, लेकिन जिले में ऐसे डॉक्टर और लैब माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई होती नहीं दीख रही है.   

ताजा मामले में पीड़ित शहर के आजाद नगर वार्ड 9 के पप्पू कुमाने सदर थानाध्यक्ष को आवेदन देकर कहा कि 12 नवम्बर 2017 को मुझे बुखार लगने पर स्थानीय चिकित्सक डा. असीम प्रकाश के यहाँ इलाज के लिए गया. चिकित्सक ने प्रारंभिक रूप से देखकर उन्हें एचआईवी जांच कराने कहा. वे जांच के लिए यदुवंशी जांच र गए, जहां जांच घर में खून का सेमपल लेने के बाद शाम में जांच रिपोर्ट दिया. जिसे लेकर वे चिकित्सक के पास गये तो डा. प्रकाश ने बताया कि आपका  एचआईवी पॉजिटिव आया है. रोगी ने कहा कि मै काफी घबरा गया. चिकित्सक ने पुन: सदर अस्पताल में जांच कराने की बात कही, लेकिन जांच कराने दिल्ली एम्स चला गया ताकि सही रिपोर्ट मिले ।

उन्होने कहा कि 16 नवम्बर को एम्स में रजिस्ट्रेशन हुआ और जांच 17 को हुआ. रिपोर्ट 27 नवंबर को दिया गया । एम्स के चिकित्सक ने रिपोर्ट देकर एचआईवी होने से इंकार किया और यदुवंशी जांच घर का रिपोर्ट को गलत करार दिया । गलत रिपोर्ट के कारण शारीरिक मानसिक और आर्थिक की भारी क्षति हुई है, लैब संचालके खिलाफ  केस दर्ज किया जाय । थानाध्यक्ष के बी सिंह ने कहा कि आवेदन मिला है और मामले की जांच की जा रही है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...