11 दिसंबर 2017

हद है!: विद्यालय में एक भी छात्रा के उपस्थित नहीं रहने से नहीं हुआ बाल सखी समूह का गठन

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना मधेपुरा के पत्रांक 1548 व दिनांक 6 दिसंबर 2017 के आलोक में सभी माध्यमिक एवं उच्च विद्यालय में बाल सखा एवं बाल सखी समूह का गठन किया जाना था.
 
 पर मधेपुरा जिले के एक स्कूल में इस समूह के गठन के समय अजीबोगरीब स्थिति उत्पन्न हो गई.


 मधेपुरा जिले के सीआरसी मध्य विद्यालय सोनबरसा प्रखंड के विज्या स्मारक कन्या प्लस टू विद्यालय आलमनगर में जब आज 11:45 पर जब पर्यवेक्षक संजय कुमार बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के उन्मूलन हेतु बाल सखा समूह एवं बाल सखी समूह के गठन के संबंध में विद्यालय पहुंचे तो विद्यालय में एक भी छात्रा उपस्थित नहीं थी. जिस को लेकर पर्यवेक्षक संजय कुमार को बैरंग  वापस लौटना पड़ा.

 इस बाबत प्रधानाध्यापक परवीन राम ने बताया कि विद्यालय में टेस्ट एग्जाम वाला कॉपी की जांच किया जा रहा है जिस वजह से जल्द ही छात्राओं को छुट्टी दे दिया गया था. इस बाबत समूह गठन करने आए पर्यवेक्षक संजय कुमार ने बताया कि गठन को लेकर विद्यालय को भी एक पत्र भेजा गया था इसके बावजूद भी एक भी छात्रा विद्यालय में उपस्थित नहीं थी जिस वजह से बालसखी समूह का गठन नहीं हो पाया.  इस बात की सूचना वरीय पदाधिकारी को दे दी गई है.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...