07 दिसंबर 2017

मधेपुरा के पुरैनी में वित्तीय अनियमितता को लेकर हाईस्कूल के एचएम निलंबित

एडमिशन के नाम पर अधिक रूपये लेकर विद्यालय के कोष में जमा करने के बजाय अपने निजी कार्यों में उपयोग करने, वर्ग नवम एवं दशम के वार्षिक परीक्षा में असफल छात्र-छात्राओं से अवैध तरीके से राशि वसूल करने के आरोप में एक हेडमास्टर को निलंबित केर दिया गया है.


बताया गया कि छात्र-छात्राओं को उत्तीर्ण घोषित करने, वित्तीय वर्ष 2014-15 का छात्रवृति राषि वितरण नहीं करने, 12वीं कक्षा के एससी, एसटी के छात्रों को नामांकन में शैक्षणिक शुल्क माफ नहीं करने के गंभीर आरोप के आलोक में श्री बासुदेव +2 उच्च विद्यालय नयाटोला के एचएम को डीईओ द्वारा निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में निवर्तमान एचएम ललन कुमार चौधरी को जिला शिक्षा कार्यालय में ड्यूटी करने के लिए निर्देशित किया गया है।

क्या है मामला ?:- मिली जानकारी के अनुसार पिछले वर्ष 9वीं के नामांकन में अधिक फीस लेने की शिकायत स्थानीय कुछ अभिभावकों द्वारा की गई थी। शिकायत के आलोक में टीम गठित कर स्कूल में नामांकन में लिये जा रहे अधिक राशि की जांच की गई थी। जांच के बाद जिला शिक्षा कार्यालय मधेपुरा के पत्रांक-126, दिनांक 10.03.2017 के द्वारा भेजे गए रिपोर्ट के आलोक में एचएम ललन कुमार चौधरी पर नामांकन में अधिक राशि लेकर विद्यालय के कोष में जमा करने के बजाय अपने निजी कार्यों में रूपये के उपयोग करने, असफल छात्रों से अवैध तरीके से राशि वसूल कर उसे उतीर्ण घोषित करने, वित्तीय वर्ष 2014-15 का छात्रवृति राशि वितरण नहीं करने, 12वीं कक्षा के एससी, एसटी के छात्रों को नामांकन में शैक्षणिक शुल्क माफ नहीं करने का आरोप निदेशक बिहार माध्यमिक शिक्षा पटना द्वारा गठित किया गया। निदेशक माध्यमिक शिक्षा के पत्रांक- 90प्र0081/2016 द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय को भेजे गये पत्र में कहा गया है कि श्री चौधरी पर प्रथम दृष्टया आरोपों के लिए निलंबित करते हुए विभागीय कार्यवाही के अधीन किया जाता है। श्री चौधरी के विरूद्ध आरापों के जांच हेतु जांच पदाधिकारी के रूप में शिक्षा उपनिदेशक कोसी प्रमंडल सहरसा और प्रस्तुतीकरण पदाधिकारी के रूप में जिला शिक्षा  पदाधिकारी (माध्यमिक शिक्षा) मधेपुरा को नामित किया गया है। श्री चौधरी को अपने बचाव अभिकथन जांच पदाधिकारी को पत्र प्राप्ति के एक सप्ताह के अंदर समर्पित करेंगे। 

क्या कहते हैं एचएम? : इस बाबत श्री वासुदेव +2 उच्च विद्यालय नयाटोला के एचएम ललन कुमार चौधरी से पूछे जाने पर उन्होने बताया कि विभाग द्वारा आरोप से संबंधित किसी प्रकार का कोई स्पष्टीकरण कभी नहीं मांगा गया । जबकि 2014-15 के छात्रवृति की राशि कुछ छात्रों का नहीं आया था इसलिए राशि नहीं बांटी जा सकी. राशि विद्यालय के बैंक खाता में सुरक्षित है, वहीं इसी मद के एससी एसटी छात्रों की राशि प्राप्त ही नहीं हुई। 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...