15 दिसंबर 2017

एमआइटी छात्रों के समर्थन में मधेपुरा में तकनीकी छात्र संगठन का कैंडल मार्च

एमआईटी मुजफ्फरपुर में के छात्रों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ तकनीकी छात्र संगठन मधेपुरा इकाई एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने संयुक्त रूप से सन्नी कुमार के नेतृत्व में S. N. P. M. H/S से मेन रोड तक कैंडल मार्च निकालकर नाराजगी जताई एवं प्राचार्य को बर्खास्त करने की मांग की ।

संगठन के अध्यक्ष मो0 गुलफराज़ ने घटना की कड़ी निंदा की है और उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्षों से एमआईटी के छात्रों ने एलएस कॉलेज को केंद्र बनाए जाने का विरोध किया है । कहा कि इसी साल फरवरी माह में एनएच को लगभग 10 घंटे तक जाम किया था, इसकी जानकारी सभी आला अधिकारी को भी दी गई थी। प्राचार्य ने उस वक्त छात्रों विचारों का पक्ष नहीं लिया. प्रशासन से आश्वासन मिलने के बाद छात्रों ने धरना खत्म किया था । इतना सब होने के बाद भी जानबूझ  कर प्राचार्य ने छात्रों को झगड़ा-झंझट करने के लिए छोड़ दिया. यदि समय रहते प्राचार्य ने सही कदम उठाया होता तो आज ऐसी नौबत नहीं आती। 

संगठन के प्रवक्ता आदित्य सिंह का कहना है कि जब भी कोई घटना घटती है छात्रों को पकड़कर बलि का बकरा बना दिया जाता है जो कि सर्वथा गलत है. छात्रों की मांग को नहीं सुना जाता है उसे छात्रावास खाली करने का आदेश रात को ही दे दिया जाता है।

संगठन के प्रदेश सचिव विकास गुप्ता का कहना है कि परीक्षा केंद्र बदल कर छात्रों की बाकी विषयो की परीक्षा होना सुनिश्चित हो और जो परीक्षा नही हो पाई है उसके लिए विश्वविद्यालय एक तिथि जल्द से जल्द एक तिथि स्पष्ट करें। तकनीकी छात्र संगठन के मीडिया प्रभारी सन्नी कुमार ने कहा कि काॅलेज प्रशासन गुंडागर्दी बंद करें और छात्रों के कैरिअर से खिलवाड़ न करें । कैंडल मार्च में दर्जनों छात्र उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...