08 दिसंबर 2017

‘नीतीश ने बिहार की जनता से धोखा किया, जनता उन्हें माफ़ नहीं करेगी’: पुतला दहन

मधेपुरा जिले के घैलाढ़ प्रखंड मुख्यालय के मुख्य सड़क मार्ग पर शुक्रवार की संध्या महागठबंधन के समर्थकों ने केंद्र सरकार नरेंद्र मोदी एवं राज्य सरकार नीतीश कुमार का पुतला दहन कर जमकर नारेबाजी की. 

इस दौरान कई नेताओं ने भी एक साथ मिलकर इसमें भाग लिये. वहीं राजनन्दन यादव एवं छात्र नेता शरद गुट ने शरद यादव के बारे में बताते हुए कहा कि शरद यादव ने राज्यसभा में यह सवाल उठाया कि देश को लूट के भागने वाले विजय माल्या को आज तक पुलिस नहीं पकड़ सकी है तो न्याय की बात हमलोग कैसे कर सकते हैं. जब इन्हें राज्यसभा से बर्खास्त किया गया था तो पहले ये मामला विचार के लिए प्रिविलेज कमेटी और एथिक्स कमेटी के पास भेजा गया था. राज्यसभा की सदस्यता गंवाने वाले शरद यादव ने राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू पर दबाव के तहत काम करने का आरोप लगाया है. शरद यादव ने गुरुवार को कहा कि किसी सांसद को बर्खास्त करने की एक प्रक्रिया होती है जिसका उनके मामले में पालन नहीं किया गया जबकि वो 11 बार सांसद रह चुके हैं. कहा  कि शरद यादव को बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू सुप्रीमो नीतीश कुमार से बगावत के बाद राज्यसभा की सदस्यता गंवानी पड़ी थी. शरद यादव ने सवाल उठाया कि देश को लूट कर भागने वाले विजय माल्या को भी जब राज्यसभा से बर्खास्त किया गया था तो पहले ये मामला विचार के लिए प्रिविलेज कमेटी और एथिक्स कमेटी के पास भेजा गया था. शरद यादव के मुताबिक उनके पुराने मित्र होने के बाजजूद वैंकया नायडू ने राज्यसभा से उनकी सदस्यता खत्म करने से पहले थोड़ा सा भी बात करना उचित नहीं समझा. शरद यादव ने कहा कि उन्हें चार दिसम्बर को जब राज्यसभा से बर्खास्त किया गया तब वे चुनाव प्रचार के लिए गुजरात में थे. उन्होनें कहा कि ये सब नीतीश कुमार के दबाव में किया गया लेकिन वह पीछे हटने वाले नहीं हैं और अपना संघर्ष जारी रखेंगे. 

वहीं राजद के नेता ललन यादव ने कहा कि नीतिश कुमार जो नौ करोड़ लोगों के साथ धोखा किया है उसे जनता कभी माफ नहीं करेगी. बिहार के मुख्यमंत्री जो पलटू राम हैं वो नौ करोड़ लोगों का मत को हांसिल कर उसे बीजेपी को बेचने का काम किया है. वहीं मौके पर दीपेंद्र यादव, सुरेश यादव, प्रोफेसर शिवनारायण मंडल, राजद अध्यक्ष भूपेंद्र यादव, सुभाष यादव, प्रमोद यादव, राम प्रकाश गुप्ता, जनार्दन यादव, प्रोफेसर अमरेंद्र यादव ,देव नारायण यादव, धर्म देव यादव, अशोक यादव, प्रमोद प्रभाकर इसके अलावे महागठबंधन के कई समर्थक मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...