11 दिसंबर 2017

कब लगेगा अंकुश?: 45 पाउच महुआ देशी शराब के साथ फिर एक गिरफ्तार

राज्य सरकार के शराब बंदी अभियान को शराबी और शराब माफिया आए दिन पकड़कर जेल जाने के बावजूद सरकार के इस महत्वाकांक्षी एवं जनसरोकार की मुहिम को ठेंगा दिखाने से बाज नही आ रहे है। 

आज भी, न तो शराबी शराब पीने से बाज आ रहे हैं और न ही शराब माफिया शराब बिक्री करने से, चाहे विदेशी शराब हो या देशी या फिर महुआ शराब। तरह-तरह के जुगाड़ टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर आज भी शराबी और शराब माफिया चांदी काट रहे है । पुलिस प्रशासन और उत्पाद विभाग तत्परता से कार्य कर रहे पर अबतक पूर्णतः अंकुश नही लग पाना कई सवाल खड़े करते हैं.

पुरैनी पुलिस ने रविवार की देर संध्या थानाध्यक्ष राजेश कुमार रंजन के नेतृत्व में गुप्त सूचना के आधार पर छापामारी की । जिसमें मुख्यालय के पश्चिमी निषाद टोला से मनीष सहनी के घर से बोरी में रखे 45 पाउच महुआ देशी शराब के साथ हिरासत में लिया गया । छापामारी अभियान में ए. एस आई कामेश्वर प्रसाद राय, पु.स.अनि समीउल्लाह खान, कपिल देव साह, उमेश मालाकार,जयप्रकाश मेहता, रधुनंदन राधव सहित अन्य पुलिस बल शामिल थे। 

थानाध्यक्ष ने बताया कि इस बाबत अवैध देशी शराब रखने के मामले को लेकर पुरैनी थाना कांड संख्या 149/17 के तहत  गृहस्वामी के विरुद्ध बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम के अन्तर्गत प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तार मनीष सहनी को सोमवार को न्यायालय में प्रस्तुत कर जेल भेज दिया गया इस बाबत पुरैनी थानाध्यक्ष श्री रंजन ने बताया कि अगर कोई भी शराब बेचते या पीते पकड़ा जायेगा तो उसे बख्सा नही जाएगा । 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...