17 दिसंबर 2017

अपराधियों द्वारा किसानों से लेवी वसूलने के खिलाफ दियारा क्षेत्र में पुलिस का फ्लैग मार्च

मधेपुरा जिला के चौसा थाना क्षेत्र के दियारा क्षेत्र में आज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में अपराध नियंत्रण को लेकर फ्लैग मार्च निकाला गया ।

बताया जाता है कि मधेपुरा जिला के सीमावर्ती जिला पुर्णियाँ, भागलपुर, खगड़िया दियारा क्षेत्र में किसान से अपराध कर्मी द्वारा लेवी वसूली के लिए अपराधी किसान को डराते-धमकाते हैं जिससे किसान दहशत में रह कर खेती नहीं कर पाते हैं। साथ ही अपराध कर्मी दियारा क्षेत्र में अपना ठिकाना बनाए रखते है।  

आज उदाकिशुनगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अरुण कुमार दुबे के नेतृत्व में कई थाने के अधिकारी के साथ दियारा क्षेत्र में फ्लैग मार्च निकालकर कहा कि पुलिस हर वक्त्त किसान के साथ है। अपराधी को पुलिस की मौजूदगी दिखाने ले लिए फ्लैग मार्च निकाला गया। 

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी श्री दुबे ने मधेपुरा टाइम्स के सवाल पर कि किसान कैसे दियारा क्षेत्र में खेती करे, कहा कि किसान भयमुक्त रहें और पुलिस उनके साथ है। और पुलिस को भी हर वक्त पब्लिक की सहायता की जरूरत है। यह सीमावर्ती इलाका होने की वजह से यहाँ दूसरे जिला से अपराध कर्मी आ जाते हैं लेकिन हमारी नजर भी दियारा क्षेत्र में लगी रहती है। पुलिस अब लगातार यह अभियान जारी रखेगी। किसी भी तरह का परेशानी होने पर वे अविलंब स्थानीय थाने को मामले की जानकारी दें, पुलिस त्वरित कार्रवाई करेगी। 

अभियान के दौरान भागलपुर जिले के महेल बहियार, बलोरा घाट, कपसिया घाट, पटपर बहियार, फुलौत ओपी क्षेत्र के मोरसंडा बहियार, कदवा बासा, करैलिया मुसहरी, जपती टोला, सपनी मुसहरी, घसकपुर, पनदही बासा और आलमनगर थाना क्षेत्र के सुखार घाट, खापपुर, रतवारा, बडगांव, जीरो माईल खुरहान होते हुए आलमनगर तक छापेमारी की गई।

मौके पर उदाकिशुनगंज थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद राम, चौसा थानाध्यक्ष सुमन कुमार सिंह, आलमनगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार, पुरैनी थानाध्यक्ष राजेश रंजन, फुलौत ओपी अध्यक्ष सुनील कुमार भगत, रतवारा ओपी अध्यक्ष उमेश पासवान, एएसआई आलोक कुमार अमल, ज्योतिष प्रसाद सहित पुलिस बल फ्लैग मार्च में शामिल थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...