06 नवंबर 2017

डीएम और सिविल सर्जन के निर्देश की हो रही अवहेलना: क्लिनिक नहीं हुआ अबतक सील

मधेपुरा के जिलाधिकारी मोसोहैल के निर्देश पर सिविल सर्जन के जारी पत्रांक 1297/ दिनांक 3/11/17 में मधेपुरा जिले के पुरैनी में संचालित नीतू सेवा सदन को सील करने का निर्देश भले ही दिया गया हो लेकिन निर्देश का अबतक कोई असर नहीं हुआ है. 

इस संदर्भ में जब चिकित्सा प्रभारी डाक्टर विनीत भारती से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि दिनांक 3/11/2017 को ही पुरैनी प्रखंड विकास पदाधिकारी सहित पुरैनी थाना व जिला के वरीय पदाधिकारी को सूचना प्रेषित कर दी गई है. चिकित्सा प्रभारी के अनुसार बिना दंडाधिकारी के क्लिनिक को सील नही किया जा सकता है. उधर मामले की खबर पाकर फर्जी क्लिनिक संचालित कर रहे फर्जी डाक्टर कुमारी नीतू मिश्रा के द्वारा जहां अपने क्लिनिक स्थल से साईन बोर्ड को हटा लिया गया है, वहीं क्लिनिक की शटर भी गिरा दी गयी है. लेकिन सूत्रों का कहना है कि अब भी गुपचुप तरीके से वहां इलाज चल रहा है और मामले को मैनेज करने का खेल भी अंदर ही अंदर जारी है. 

यह सवाल उठना लाजमी है कि आखिर क्या वजह है जो जिला मुख्यालय में बहुत से क्लिनिक अविलंब क्लिनिक सील हुआ है लेकिन यह क्लिनिक निर्देश के बावजूद भी अबतक सील नही किया गया है, जबकि डाक्टर की डिग्री भी फर्जी होने की बात कही गई है. बहरहाल जो भी हो अगर स्वास्थ्य विभाग ऐसे ही शिथिल रहा तो ऐसे फर्जी क्लिनिक संचालकों का मनोबल घटने के बजाय और बढेगा और यूं ही ऐसे फर्जी क्लिनिक चलते रहेंगे और गरीब और अनपढ़ लोगों को  इलाज के नाम पर लूटते रहेंगे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...