21 नवंबर 2017

BNMU: आर.के.के. कॉलेज के छात्रों ने माना, वे प्रिंसिपल और एजेंट के झांसे में आ गये

मधेपुरा के बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय में पिछली बार डिग्री पार्ट-I की परीक्षा पूर्णियां के आर.के.के. कॉलेज की वजह से स्थगित करना पड़ा था और बार-बार परीक्षा की तिथि बढाने के कारण विश्वविद्यालय में हंगामा भी जमकर किया गया था.

मिली जानकारी के अनुसार पूर्णियां के आर.के.के. कॉलेज से सम्बंधित 504 कथित विद्यार्थी जिनका दावा है कि उन्होंने आर.के.के. कालेज, पूर्णिया के स्नातक प्रथम खंड में नामांकन लिया है, लेकिन कालेज ने विश्वविद्यालय में उनका परीक्षा फार्म जमा नहीं कराया, जिसके कारण वे परीक्षा नहीं दे पाए। इन विद्यार्थियों के मामले पर विचार हेतु गत 6 नवंबर को विश्वविद्यालय की एक उच्चस्तरीय टीम पूर्णिया कालेज, पूर्णिया में पूरे दिन रही। संबंधित विद्यार्थी टीम के सदस्यों के समक्ष उपस्थित हुए, लेकिन ये विद्यार्थी  नामांकन एवं पंजीयन का प्रमाण नहीं दे पाए। अतः ऐसे कथित विद्यार्थियों को 20 नवंबर से शुरू हुई स्नातक प्रथम खंड की परीक्षा में शामिल कराना नियमानुकूल नहीं था। 

इन छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवर को कुलपति प्रोफेसर डॉ. अवध किशोर राय से मुलाकात की, लेकिन विश्वविद्यालय इन विद्यार्थियों के मामले पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर रही है। कुलपति ने विद्यार्थियों से कहा कि वे महाविद्यालय के प्रधानाचार्य के माध्यम से विधिवत विश्वविद्यालय में अपना पंजीयन फार्म और परीक्षा फार्म जमा कराएं। तदुपरांत विद्यार्थियों को परीक्षा देने की अनुमति दी जाएगी। विद्यार्थियों ने कहा कि वे महाविद्यालय के प्रधानाचार्य और उनके प्रतिनिधियों के झांसे में आ गये। इसके कारण उनका कैरियर दांव पर लग लया है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...