22 नवंबर 2017

फर्जी डाक्टर की भेंट चढ़ चुकी महादलित महिला किरण के घर पहुंचे सांसद

जो सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ नहीं कर सकती ऐसे सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत है और ऐसे मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देनी चाहिए. बिहार में स्वास्थ्य और शिक्षा की स्थिति बद से बदतर है । 


हमारी सरकार बनी तो प्राइवेट स्कूल और हॉस्पिटल से ज्यादा खूबसूरत और सुविधाजनक सरकारी हास्पिटल और स्कूल होंगे । हम कम्पलसरी कानून बना देंगे कि पदाधिकारी, नेता, सांसद, विधायक और आम आदमी सभी के बच्चे का सरकारी अस्पताल में  इलाज होगा और सरकारी विद्यालय मे पढेंगे । हर पंचायत मे सरकारी जांच घर होंगे । आज बिहार मे सदर अस्पताल स्वास्थ्य केन्द्र, उपकेन्द्र भगवान भरोसे है और जांच केन्द्र लूट का अड्डा बना हुआ है. फर्जी क्लिनिक का पता चलते ही उसमे ताला जड़ दें ।

    उक्त बाते मधेपुरा के सांसद सह जनअधिकार पार्टी लो के संरक्षक राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने मंगलवार को पुरैनी के गणेशपुर पंचायत के डुमरैल गांव मे एक सभा के दौरान कही । डुमरैल निवासी मनोज राम की पत्नी किरण देवी व उसके नवजात की बीते दिनो फर्जी डाक्टर के इलाज के वजह से हो गई थी. सांसद ने मृतका के पति मनोज राम की आर्थिक मदद की । वहीँ  उक्त गांव मे ही आयोजित एक सभा को संबोधित किया सभा में सांसद सरकार सिस्टम पर जमकर बरसे. उन्होंने आम लोगों  से कहा कि सिर्फ दो साल हमें दे दीजिये, हम बिहार बदल देंगे  । इस दौरान सांसद पुरैनी प्रखंड के औरलाहा, कुरसंडी आदि गांव पहुंचे जहां पीड़ितों से मिले और उनकी आर्थिक मदद की। सभा में मकदमपुर के कई लोगो ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की तो कई जरूरतमंदो को दिल्ली व पटना इलाज के लिए जाने के पैसे सांसद ने दिए ।

मौके पर जनअधिकार पार्टी के जिलाध्यक्ष मोहन मंडल, सांसद प्रतिनिधि रामपुकार यादव, प्रदेश महासचिव सह आलमनगर विधानसभा प्रतिनिधि जयप्रकाश सिंह, प्रदेश महासचिव सह पूर्व जिला पार्षद अखिलेश कुमार, सांसद प्रतिनिधि कापेश्वर सिंह निषाद, मोहम्मद सहादत, राजेश रौशन  मुखिया मोहम्मद वाजिद, गजेन्द्र राम, रमण कुमार झा, हिमांशु कुमार, गौरव राय, सोनू झा, अख्तर आलम, अब्बास राही, मंजुला मिश्रा सहित कई अन्य उपस्थित थे ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...