18 नवंबर 2017

सकारात्मक पत्रकारिता के वादे के साथ मधेपुरा में हुई ‘दैनिक भास्कर’ की लॉन्चिंग

मधेपुरा में प्रतिष्ठित अखबार दैनिक भास्कर की लॉन्चिंग आज जिला मुख्यालय के कला भवन में  एक भव्य कार्यक्रम में तालियों के गड़गड़ाहट के बीच हुई.

दैनिक भास्कर के मधेपुरा आगमन का स्वागत करते हुए भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ ए के राय ने कहा कि दैनिक भास्कर ने बिहार में आकर सकारात्मक सामाचार की पहल की है।
दोनों पक्षों की बात लिखकर आमलोगों से अपना जुड़ाव बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि यह संयोग है कि पहले भागलपूर के बाद पूर्णिया और फिर अब मधेपुरा में मैं इस अखबार के आगमन का गवाह रहा हूँ। विश्वविद्यालय के साथ मीडिया का अन्योनाश्रय संबंध रहा है। दैनिक भास्कर समाज के विकास के लिए घटना की सच्चाई को रखता है और यही कारण है कि यह सदा सफल होता रहा है। उन्होंने याद करते हुए कहा कि जब 26 जनवरी को दंगा भड़कने की नौबत आयी थी तो बंदी के बावजूद दैनिक भास्कर ने अखबार को प्रकाशित कर अफवाहों पर लगाम लगाया जिससे असामाजिक तत्वों के मंसूबों पर पानी फिर गया। यही प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ का काम भी है। मधेपुरा में मैं इसके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूँ। 

प्रति कुलपति डॉक्टर फारुख अली न कहा जनसमस्याओं से रूबरू होकर सभी पक्षों की बात सुनकर समस्या का निराकरण करना ही सच्ची पत्रकारिता है। उन्होंने कहा कि देश के 29 राज्यों में से 12 राज्य में यह अख़बार फैला हुआ है। इतनी बड़ी व्यवस्था को चलाना मुश्किल जरूर है लेकिन आपलोगों ने यह कर दिखाया है। उन्होंने जिले में राष्ट्रीय उच्च पथों की बदहाली को दूर करने के लिए इसे मिशन के रूप में लेने का आग्रह किया। प्रति कुलपति ने दैनिक भास्कर की मंगल भविष्य की कामना करते हुए समाज की भलाई के लिए काम करने की सलाह दी।

कार्यक्रम में दैनिक भास्कर भागलपुर के स्थानीय संपादक राजेश रंजन ने कहा कि दैनिक भास्कर सकारात्मक पत्रकारिता में यकीन करता है। हम मजबूती के साथ कह सकते हैं कि भास्कर आपकी आवाज बनेगा। भास्कर सच के साथ है और गलत के खिलाफ पूरी ताकत से खड़े होते हैं।

 दैनिक भास्कर के सेलेलाइट संपादक सुनील शुक्ला ने कहा कि वर्ष 1958 में मध्य प्रदेश के भोपाल से शुरुआत करने के बाद आज हम 12 राज्यों में 66 संस्करण प्रकाशित कर रहे हैं। चार भाषाओं में हम दैनिक भास्कर प्रकाशित कर रहे हैं। 1996 में दैनिक भास्कर मध्य प्रदेश से अपना सफर आगे बढ़ाते हुए अब बिहार आये हैं। पटना में आने के बाद हमने वादा किया था कि हम निष्पक्षता के साथ सच्चाई को छापेंगे। सतही और सपाट नहीं, जनसरोकारों से जुड़ी खबरों को छापते हुए हम भागलपुर से होते हुए मधेपुरा आये हैं। हमारे निष्पक्ष अखबार में पाठकों की आवाज को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती है। 

प्रोजेक्ट हेड प्रवीण माथुर ने कहा कि सर्वे के दौरान पाठकों ने यह फीड बैक दिया था कि निष्पक्ष पत्रकारिता हो। भास्कर इसके लिए मजबूती से खड़ा है। पाठकों के अपेक्षा पर खड़ा उतड़ना ही भास्कर का मुख्य लक्ष्य है।

 कार्यक्रम का संचालन मधेपुरा ब्यूरो चीफ मनीष वत्स, एंकरिंग बीआर ऑक्सफोर्ड स्कूल मुरलीगंज के संचालक मानव सिंह और धन्यवाद ज्ञापन दैनिक भास्कर भागलपुर के प्रोजेक्ट हेड प्रवीण माथुर ने किया।
(नि. सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...