03 नवंबर 2017

BNMU: छह नवम्बर कॊ ही निजी कालेजों की खुलेगी पोल

भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के पूर्णिया और अररिया जिले चार निजी कालेजों के कथित छात्रों कॊ स्नातक प्रथम खंड का एडमिट कार्ड नही मिल पाने के कारण परीक्षा कॊ विवश होकर स्थगित करने के बाद मचे बावेला से वि. वि. के विभिन्न निजी कालेजों  में जारी धांधली की  पोल पट्टी अब छह नवम्बर कॊ खुलेगी ।


उस दिन विवि की टीम पूर्णिया कालेज में शिविर लगा कर उन छात्रों से फॉर्म भरने का साक्ष्य लेकर मौके पर ही उन्हे एडमिट कार्ड उपलब्ध करायेंगी । इस बावत पूर्णिया जिला प्रशासन द्वारा एडमिट कार्ड  जारी नही करने के कारण परीक्षा स्थगित करने का आग्रह करने के सवाल पर अब कुलसचिव ने उन्हे पत्र लिख कर अपने पक्ष से भी अवगत कराया है।
शुक्रवार 3 नवंबर को लिखे गये  पत्र में विश्वविद्यालय ने अररिया और पूर्णिया के स्नातक प्रथम खंड (2015-16) के परीक्षाार्थियों के प्रवेश पत्र कथिततौर पर उपलब्ध नहीं कराने के आरोपों का माक़ूल  जवाब भी  दिया है। 

विश्वविद्यालय ने पूर्णिया प्रमंडलान्तर्गत अवस्थित चार कालेजों यथा-आरकेके कालेज, मधुबनी, एससीबी ईवनिंग कॉलेज, पूर्णियाइन्द्रानंद कालेज, खुश्कीबाग एवं किसान डिग्री कालेज, अररिया को निर्गत प्रवेश पत्रों का पूर्ण विवरण भेजा है।

आरकेके कालेज, मधुबनी में स्नातक प्रथम खंड में कुल 919 विद्यार्थी हैं (कला में 564, विज्ञान में 247 एवं वाणिज्य में 108)
 एससीबी ईवनिंग कॉलेज, पूर्णिया में कुल 793 विद्यार्थी हैं (कला में 731, विज्ञान में 30, वाणिज्य में 19 एवं सामान्य में 13)। 
इन्द्रानंद कालेज, खुश्कीबाग में कुल 854 विद्यार्थी हैं ((कला में 847 एवं वाणिज्य में 7)
किसान डिग्री कालेज, अररिया में कुल 650 विद्यार्थी हैं (कला में 632 एवं वाणिज्य में 18)

कुलसचिव ने लिखा  है कि उक्त चारों कालेजों से प्रधानाचार्यो के द्वारा विश्वविद्यालय को जितने भी छात्रों का परीक्षा-प्रपत्र एवं शुल्क जमा किया गया था, उन सभी का प्रवेश-पत्र ससमय निर्गत कर दिया गया था। इसके बावजूद कुछ छात्रों ने हंगामा किया। हंगामे के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने जिलाधिकारी, पूर्णिया को पत्र लिखा। (पत्राक परीक्षा/ गो.-1493/17 दिनांक 29.10. 2017) पत्र में यह निवेदन किया कि विश्वविद्यालय द्वारा विशेष टीम का गठन कर आर. के. के. कालेज, पूर्णिया परीक्षा केंद्र पर छात्रों की समस्या का समाधान हेतु भेजा जाना है। इस आशय का पत्र आरक्षी अधिक्षक, पूर्णिया को भी भेजा गया। इसके बावजूद जिलाधिकारी, पूर्णिया ने पत्राक- 5559/ गो. दिनांक- 29. 10.2016 के द्वारा परीक्षा स्थगित करने का अनुरोध किया। इसके कारण विश्वविद्यालय को परीक्षा स्थगित करनी पङी।

विश्वविद्यालय का पत्र कुलसचिव डॉ. कुमारेश प्रसाद सिंह के हस्ताक्षर से जारी किया गया है। 

इस पत्र से यह स्पष्ट है कि  विवि ने तो एडमिट कार्ड जारी किया लेकिन अगर इसके बावजूद कूछ अतिरिक्त छात्रों कॊ एडमिट कार्ड जारी किया गया तो निजी कालेजों में मची लूट खसोट और सड़क से पकड़ कर कथित छात्रों का शोषण करने वाले ही दोषी है ।बहरहाल पूर्णिया में अब शीघ्र ही नया विवि स्थापित होने वाला है लेकिन यहाँ तो पूर्व से ही शिक्षा माफिया जड़ जमाये बैठे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...