20 नवंबर 2017

सरकार की दोहरी नीति के खिलाफ संविदा स्वास्थ्यकर्मियों ने लगाया काला बिल्ला

बिहार राज्य स्वास्थ सेवा संविदा कर्मी संघ, पटना एवं जिला इकाई, मधेपुरा के आह्वान पर प्राथमिक स्वाथ्य केंद्र मुरलीगंज में सभी संविदा स्वास्थ्यकर्मी काला बिल्ला लगाकर कार्य करते हुए दिखे ।

  
विरोध में प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक, प्रखंड लेखापाल, आयुष चिकित्सक, आर बी एस के चिकित्सक, सामदायिक उत्प्ररेक, कार्यपालक सहायक, आर एन टी सी पी, पी ऍम डब्लू, सभी स्वास्थ्य समिति सदस्य कार्यरत काला बिल्ला लगाकर कार्य करते हुए दिखे ।

प्रखंड स्वास्थ प्रबंधक मो सहाबुद्दीन ने बताया कि हम सभी संविदा स्वास्थ्य कर्मी बिहार सरकार  के द्वारा अपनाई जा रही दोहरी नीति के खिलाफ है. समान काम के लिए समान वेतन होना चाहिए, लेकिन इसपर सरकार भेदभाव की नीति अपना रही है । इसलिए हमलोग 20 नवम्बर से 25 नवम्बर तक काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगे और 28 नवम्बर को सामूहिक अवकाश पर जिला मुख्यालय में एक दिवसीय धरना में सम्मलित रहेंगे । इसके बाबजूद भी यदि हमलोगों की  सभी 6 मांगें जैसे सातवें वेतन का लाभ, एच आर पालिसी, संविदा नवीकरण, आकस्मिक मृत्यु के पश्चात अनुकम्पा एवं एकमुश्त राशि का प्रावधान, ई पी एफ की कटौती एवं राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार के गवर्निंग बॉडी में पद धारकों की सदस्यता शामिल हैं. यदि इन सभी मांगों के प्रति राज्य सरकार के द्वारा टालमटोल की नीति अपनाई जाती है तो 4 दिसम्बर से हम सभी संविदा स्वास्थ्य कर्मी सामूहिक हड़ताल पर चले जायेंगे ।

इस अवसर पर लेखापाल सतीश प्रसाद गुप्ता, आर बी एस के चिकित्सक डॉ सुधांशु, डॉ लाल बहादुर, डॉ तारा, फार्माशिष्ट अजय रंजन, सूर्यनारायण, पी ऍम डब्लू जवाहर शर्मा, एस टी एस राकेश कुमार रोशन, कार्यपालक सहायक अमित कुमार, रंधीर कुमार, राजेश कुमार, राहुल कुमार, मो अली, ई एम टी शैलेन्द्र कुमार, आशा अनीता कुमारी, मंजू देवी, सावित्री देवी, पिंकी देवी, पूजा कुमारी, वीणा कुमारी के साथ साथ सैंकड़ों स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे ।
(नि. स.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...