13 नवंबर 2017

डीएम की अध्यक्षता में समीक्षात्मक बैठक में एनएच 106 की मरम्मत का निर्देश



सोमवार को डीआरडीए स्थित झल्लू बाबू सभागार में जिलाधिकारी मो० सोहैल की अध्यक्षता में समीक्षात्मक बैठक की गई जिसमें सभी विभागों की समीक्षा की गई और सम्बंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दिये गये ।

उन्होने विद्युत शुल्क वसूली आपूर्ति से आधा होने पर चिंता प्रकट करते हुये मीटर रीडिंग के समय ही विपत्र वसूली कॊ उपयुक्त बताते हुए शुल्क वसूली पर जोर दिया ।

बैठक में फसल क्षति के सम्बंध में सभी सीओ को निर्देश दिया गया कि जितने  की जांच की जा चुकी  है उनके खाते में रुपये अविलम्ब भेज दें ।
जिलाधिकारी महोदय द्वारा शौचालय इंट्री के सम्बंध में डीसी को इंट्री हेतु अग्रतर करवाई करने का निर्देश दिया गया। अक्टूबर माह का अनाज वितरण हेतु 16 नवम्बर से माइकिंग कर बांटने का निर्देश दिया गया। डीलर जांच प्रतिवेदन में डीएसओ को निर्देश दिया गया कि प्राप्त प्रतिवेदन को खोलकर उसकी कॉपी जिला वेबसाइट पर डाल दे और आवेदनों के विरुद्ध आपत्ति मांगी  जाय।

जिलाधिकारी  द्वारा बालू डिपो खोलने हेतु सरकारी जमीन उपलब्ध  करवाने हेतु सीओ को निर्देश दिया गया।आईसीडीएस में टीएचआर को 15 नवम्बर से बांटने का निर्देश दिया गया।जिलाधिकारी ने आंगनबाड़ी केंद्रों में सेविका और सहायिका नियुक्ति हेतु अग्रतर करवाई करने का निर्देश दिया ।

बैठक में डीपीओ आईसीडीएस के द्वारा बताया गया कि आंगनबाड़ी केंद्र के भवनो हेतु  वेदांता फाउंडेशन द्वारा प्रस्ताव प्राप्त हुआ है ।इस संबंध में सभी सीओ को 3 से 4 डिसमिल जमीन अविलम्ब उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया है।विद्यूत परियोजना द्वारा बताया गया कि मुरलीगंज में 33 केवी पावरग्रिड चालू कर दिया गया है। जिलाधिकारी द्वारा बीपीएल और एपीएल में  भी तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। एक्सक्यूटिव द्वारा बताया गया कि शहरी क्षेत्र मुरलीगंज और मधेपुरा  मे जहां भी बांस से विधुत तार गुजरी है उसे पोल में बदल दिया जाएगा।

कृषि फीडर में दो कृषि फीडर बनाया गया है।विधुत आपूर्ति में जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि स्पॉट बिलिंग के लिए उन घरों में भी स्पॉट बिलिंग करे जहां पहले नही किया गया है।

विद्युत् राजस्व वसूली में जिलाधिकारी  द्वारा चिंता जताई गई । एक्सक्यूटिव ने बताया कि जिले में 7 करोड़ की बिजली प्राप्त होती है, जबकि इसके  विरुद्ध 3.5 करोड़ रू ही राजस्व वसूली होती है। 

जिलाधिकारी द्वारा एनएच 106 की समीक्षा की गई जिसमें ग्वालपाड़ा से उदाकिशुनगंज के बीच सड़को के सम्बंध में सम्बंधित अंचलाधिकारी द्वारा बताया गया कि सड़कों में बहुत गड्ढे हैं जिसे आईएलएफएस को अविलम्ब मरम्मत का निर्देश दिया गया।

बैठक में डी डी सी मुकेश कुमार, एस डी ओ  संजय कुमार निराला और एस जेड हसन के अलावे सभी वरीय पदाधिकारी के साथ साथ सभी विभागीय अधिकारीएवम सीओ  व  बीडीओ उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...