09 अक्तूबर 2017

विभागीय लापरवाही से खतरनाक बनी एनएच 107: ट्रक के पलटने से लगा भीषण जाम

विभागीय लापरवाही के कारण एनएच 107 की हालत खतरनाक होती जा रही है। मधेपुरा  से पूर्णिया  तक पूरी तरह जानलेवा हो चुका है। गड्ढों की श्रृंखला भारी वाहनों का फंसना और दुर्घटनाग्रस्त होना आम नियति बन गई है।

सोमवार को दिन के 2:00 बजे एन एच 107 पर मीरगंज रेलवे ढाला से 2 मीटर की दूरी पर बड़े- विशालकाय गड्ढे में छर्री लदे एक ट्रक के पलटने से जाम लग गया। मामूली बारिश में वह सड़क पूरी तरह झीलनुमा हो जाती है। गड्ढों में समाये तथा कीचड़मय हो चुकी सड़क से वाहनों का आवागमन जोखिम भरा हो गया है। सूखे में सड़क पर धूल का गुबार उड़ते रहना तथा बारिश होते ही कीचड़मय सड़क पर पैदल चल पाना कठिन हो जाता है। खासकर दुपहिया और तिपहिया वाहन चालकों को परेशानी झेलनी पड़ती है।

मुरलीगंज दुर्गा स्थान से लेकर के गौशाला चौक तक तो ऐसा प्रतीत होता है की पोखरों से होकर गाड़ी निकलती है  निकट सड़क किनारे रहनेवाले लोग धूल से बचने के लिये नालों के पानी का बहाव सड़क पर कर देते हैं, जिससे वाहनों के चलने से सड़क में तेजी से गड्ढा होता जा रहा है। ऊबड़-खाबड़ सड़क पर ओवरलोड वाहनों का परिचालन और अधिक दुरुह हो जाता है। स्कूली बच्चों को लिये वाहन जहमत मोल लेकर बच्चों को स्कूलों को पहुंचाते हैं। जर्जर सड़क को लेकर बराबर जाम की नौबत खड़ी होती रहती है। एनएच प्रमंडल पूर्णिया और एनएचएआई बेगूसराय के झमेले में लगभग 6 महीने से इस पर ना तो मरम्मती की जा रही है और ना ही उसके रखरखाव की ओर ध्यान दिया जा रहा है दोनों एक दूसरे के क्षेत्राधिकार  होने की बात बताकर अपना पल्ला झाड़ लेती है.सहरसा से पूर्णिया तक सड़क जानलेवा बन चुकी है तथा वाहनों के परिचालन होते रहने के कारण सड़क दिन ब दिन बदहाल होती जा रही है।

पिछले दिनों मुरलीगंज नगर पंचायत के हेल्पलाइन संस्था के सचिव विकास कुमार ने बताया कि उसने बिहार सरकार रोड डेवलपमेंट डिपार्टमेंट के पर ऑनलाइन कंप्लेन एनएच 107 को लेकर ह्वाटसेप  के माध्यम से शिकायत दर्ज कराई थी जिसका शिकायत आईडी 80000-1609170128 है। पर उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि अभी तक सुधार नहीं है। पहले तो बिहार सरकार यह कह कर पल्ला झाड़ लेती थी कि केंद्र से हमारा तालमेल नहीं है इसीलिए विलंब है, लेकिन अब केंद्र उसके साथ अच्छे गठबंधन होने के बावजूद NH का निर्माण नहीं होना बहुत बड़ा भेदभाव है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...