13 अक्तूबर 2017

नैक टीम द्वारा द्वारा पार्वती विज्ञान महाविद्यालय का दो दिवसीय निरीक्षण प्रारम्भ

मधेपुरा के पार्वती विज्ञान महाविद्यालय में शुक्रवार से नैक टीम द्वारा द्वारा दो दिवसीय निरीक्षण प्रारम्भ हो गया । सुबह साढ़े नौ बजे कालेज पहुँची नेक की टीम का स्वागत प्रधानाचार्य डॉ  राजीव कुमार के नेतृत्व में कालेज कर्मियों ने किया, जबकि एन सी सी द्वारा अतिथियों  कॊ सलामी भी दी गयी ।


टीम के सदस्यों ने सबसे पहले प्रधानाचार्य के साथ बैठक कर कालेज की आधारभूत संरचना सहित अन्य एकेड्मिक उपलब्धियों की रिपोर्ट लेकर जाँच शुरू किया ।

जाँच के पहले चरण में सूचना और संचार तकनीकी कक्ष (आई सी टी) में विषय वार सम्बन्धित प्राध्यापकों कॊ बुला कर उनसे उनकी उपलब्धियों की जानकारी ली गयी । छात्रोपस्थिति, शिक्षकों की शैक्षणिक योग्यता सहित अन्य जानकारी भी हासिल की गयी ।

इसके बाद टीम के सदस्यों ने कालेज के विभागों में जाकर शिक्षकों की शैक्षिक योग्यता और उनकी शैक्षिक उपलब्धियों से सम्बन्धित कागजातों  कॊ साक्ष्य स्वरूप देखा ।

नेक की इस टीम में अध्यक्ष प्रो एस के सिंह हैं, जो हेमवती नँदन बहुगुणा विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति थे । टीम के समन्वयक डॉ एम ए सुधीर और सदस्य के रुप में डॉ एस बी हेगार्गी का पदार्पण हुआ है । पहले दिन टीम ने पूर्व छात्र और अभिभावकों के साथ बैठक की और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी देखा और पुस्तकालय सहित अन्य सुविधाओं का भी जायजा लिया । निरीक्षण का दौर कल शनिवार कॊ भी जारी रहेगा ।

क्या मिल सकती है सुविधा: मालूम हो कि नैक मूल्यांकन में  हजार पाइन्ट होते हैं। इसमें अंगीभूत काॅलेजों के लिए करिकूलम में 150, शिक्षण- अभिगम एवं मूल्यांकन में 300, शोध में 150, आधारभूत संरचना एवं शिक्षण प्रविधि में 100, स्टूडेंट स्पोर्ट्स में 100, लीडरशिप एवं मैनेजमेंट में 100 और इनोवेशन में 100 प्वाइंट निर्धारित है।


नैक से ए++, ए+,ए,बी++,बी+,बी एवं सी ग्रेड दिया जाता है। यदि काॅलेज को कम से कम बी ग्रेड मिल जाए, तो उसे राष्ट्रीय  उच्चतर शिक्षा अभियान  (रूसा) से 5 करोड़ रू. मिलता है। पार्वती साइंस कालेज, मधेपुरा को 'ए' ग्रेड मिलने की उम्मीद की जा सकती है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...