01 अक्तूबर 2017

सौहार्दपूर्ण मुहर्रम: पुरैनी में रणगाहों में भिन्न भिन्न प्रकार के तजिया बना आकर्षण का केंद्र

शहादत व बलिदान का पर्व मुहर्रम के मौके पर मधेपुरा जिले के प्रखंड क्षेत्र में सभी रणगाहों पर स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक एवं पुख्ता इंतेजाम के बीच मेला में दोनों समुदाय के लोगों का उत्साह एवं सौहार्दपूर्ण भावना तथा सामाजिक एकता के साथ शांतिपूर्वक मनाया गया.


प्रखंड के प्रमुख एवं ऐतिहासिक नरदह स्थित रणगाह में 14 एवं बघवादियारा रणगाह में 10 ताजियों का मिलान एवं तालिम साह टोला चंदा खानकाह रणगाह में विभिन्न टोले के आठ तजियों का मिलान किया गया. इन तीनों रणगाहों पर मिलान किये गये एवं ऐतिहासिक नरदह रणगाह में नरदह, रहुआ एवं कुम्हारपुर के मुस्लिम भाईयों द्वारा निर्माण कराये गये एक सौ फीट उंची भव्य एवं आकर्षक तजिया दोनों समुदाय के लोगों के लिये आकर्षण का केंद्र बना रहा. इसके अलावे कई अन्य रणगाह अलिजान साह चंदा, बड़ी इदगाह रणगाह, भटौनी, बंशगोपाल, पुरैनी, सपरदह में भी तजियों का मिलान किया गया. 

नरदह स्थित ऐतिहासिक रणगाह के अध्यक्ष सह पूर्व मुखिया मो मोबिन के अनुसार यहां नरदह, रहुआ कुमारपुर, परिहारपुर, नयाटोला, छोटी नरदह, योगीराज टोले सहित कुल दस तजिया का मिलान किया गया. तालिम साह टोला चंदा खानका रणगाह के अध्यक्ष मो जैनुल आबदीन के अनुसार यहां तालिम साह टोला, दिवान टोला, खान टोला, गुलाम रसूल टोला, बड़ी ईद्गाह कबीरटोला, पैना, औराय, एवं खेरहो के आठ तजियों का मिलान किया गया. वहीं बघवादियारा स्थित रणगाह के बाबत गणेषपुर पंचायत के मुखिया मो वाजिद ने बताया कि यहां डुमरैल, मजिद टोला, हाजी टोला, मस्जिद टोला, बसंतपुर टोला, गणेषपुर दियारा, मुस्ताक टोला एवं औरलाहा सहित कुल दस तजियों का मिलान कर परंपरागत हथियारों के साथ जंगियों के द्वारा कई प्रकार के करतब भी दिखाये गये. 

प्रखंड के नरदह रणगाह पहुंचे सासंद एवं विधायक: जनअधिकार पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक सह मधेपुरा लोस के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव प्रखंड के नरदह रणगाह पहुंचे. मौके सांसद ने मुसलिम भाइयों से मुलाकत करते हुए मुहर्रम की बधाई दी. उन्होंने कहा कि हमारी तहजीब गंगा जमुनी तहजीब है और हमारी इस तहजीब दुनिया की कोई ताकत खंडित नहीं कर सकती. वहीं बघवादियरा रणगाह पहुंचे आलमनगर विधान सभा के विधायक नरेंद्र नारायण ने मुलाकात करते हुए कहा कि मुहर्रम त्याग और बलिदान का प्रतीक है. भारत में ताजिया जुलूस में हिंदु और मुसलिम दोनों समुदाय के लोग शामिल होकर यहां की गंगा जमुनी तहजीब को कायम करते है और फिरका परस्त ताकतों को यह संदेश देते है कि हमारी एकता को कोई खंडित नहीं कर सकता.

मौके पर जय प्रकाश सिंह, शैलेंद्र कुमार, मो शहदत परदेशी, राजेश रौशन, अख्तर आलम, गौरव राय, हिमांशु कुमार, रमण कुमार, पवन गोस्वामी, निर्मल ठाकुर, अमित कुमार लाल, मुखिया रजनीश कुमार उर्फ बबलु यादव, पंसस कमल किशोर यादव, सरपंच पप्पू मिस्त्री, उमेश सहनी, मो गुलजार, जुबैर आलम, मो रकीद आदि मौजूद थे. 
Description: https://ssl.gstatic.com/ui/v1/icons/mail/images/cleardot.gif

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...