29 अक्तूबर 2017

भीड़ का क़ानून: छेड़खानी के आरोप में हाथ बांध कर बीच चौराहे पर पीटा


मधेपुरा जिले के आलमनगर थाना क्षेत्र के बीआरसी के सामने बीच चौराहे पर एक युवक का हाथ बांध कर सामूहिक रूप से आधे घंटे युवक की जमकर पिटाई की गई. 


पिटाई करने के बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई जिसके बाद पुलिस नें घटना स्थल पर पहुंचकर अचेतावस्था में आरोपी रूपेश झा को कब्जे में लेकर इलाज के लिए सामुदायिक स्वस्थ्य केन्द्र आलमनगर में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों द्वारा घायल युवक की गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए युवक को रेफर कर दिया. 

इस बाबत थाना में दिए आवेदन में विनोद मिस्त्री ने बताया कि शौच करने गई मेरी 15 वर्ष की लड़की के साथ स्थानीय बांट झा के पुत्र दिलखुश झा बीआरसी के पीछे बगीचा में दुष्कर्म करने की नीयत से मुंह बंद कर छेड़छाड़ किया. किसी तरह लड़की के द्वारा चिलाने की आवाज सुन कर आस-पास के लोग वहां पहुंच कर आरोपी युवक को पकड़ा, जिसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया. वहीं दूसरी ओर युवक के भाभी द्वारा थाना में दिए गए आवेदन में बताया गया कि रविवार की सुबह स्थानीय ज्योति मिस्त्री, विक्की मिस्त्री, परमानंद मिस्त्री, चन्दर मिस्त्री, निखील मिस्त्री, महेन्द्र मिस्त्री, वीरेन्द्र मिस्त्री, नवीन मिस्त्री, इन्दल मिस्त्री सहित आठ से दस अज्ञात लोगों द्वारा एक साथ मेरे घर में घुस कर बिना किसी कारण के मेरे साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मेरी इज्जत लूटने का प्रयास ज्योती मिस्त्री ने किया. मुझे बचाने के लिए मेरे पति जब दौड़कर आये तो मेरे पति को इन अभियुक्तों ने पकड़ लिया और उसी के सामने मेरा वस्त्र खींचकर अर्धनग्न कर दिया और पुनः दुष्कर्म करने का प्रयास करने लगा. जब मेरे पति द्वारा शोर मचाया गया तो मेरे पति के साथ वे लोग घर में ही मारपीट करने लगे. और मारते-मारते घर से बाहर ले जाकर बीच सड़क पर हथिया से जान से मारने की नीयत से वार करने लगा. जिससे वह बुरी तरह घायल हो गये. इसी दौरान मेरा देवर दिलखुश झा जब दौड़कर आया तो उसके साथ भी ये लोग मारपीट करने लगे. जब मेरी सास बचाने आयी तो उसे भी अर्धनग्न कर उसके साथ बीच चौराहे पर मारपीट करने लगा. 

वहीं घटना की खबर मिलते ही लोगों की भीड़ चौक पर जमा होने लगी और इस तरह हाथ बांधकर बीच चौराहे पर मारपीट करने और महिलाओं के साथ मारपीट करने के विरोध में लोग सड़क जाम करने लगे. 

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस पदाधिकारी गौरीशंकर सिंह घटना स्थल पर पहुंच कर घायल युवक को कब्जे में लेकर कार्रवाई के अश्वासन पर लोगों का आक्रोश शांत करवाया. इस बाबत थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि दोनों तरफ के आवेदन पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...