17 सितंबर 2017

हत्या के मामले में साढ़े तीन माह बाद अन्य नामजदों की गिरफ्तारी नहीं

मधेपुरा जिले के शंकरपुर थाना क्षेत्र के रायभीर पंचायत के वार्ड नं 08 में बीते सात जून को हुई वर्चस्व की लड़ाई में एक पच्चीस वर्षीय युवक का गोली मारकर हत्या की गई थी.


मामले में पुलिस ने भले ही हत्या के कुछ दिन बाद ही हत्या के आरोपी को मौजमा चौक से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की हो, लेकिन घटना के करीब साढ़े तीन महीना बीतने के बावजूद भी अन्य नौ नामजद अभियुक्त की गिरफ्तारी नही हो पाई है.

मिली जानकारी के अनुसार मामले में मंटू यादव हत्याकांड के मामले में मृतक की पत्नी किरण देवी ने शंकरपुर थाना में आवेदन देकर कहा था कि सात जून की संध्या करीब पांच बजे घर से कुछ ही दूरी पर स्थित दुर्गा मंदिर में प्रत्येक दिन की भांति उस दिन भी पूजा करने मंटू यादव एवं उसकी पत्नी किरण देवी गयी थी. इसी दौरान पांच मोटरसाईकिल पर सवार करीब पंद्रह लोग मंटू यादव को सरेआम सीने में गोली मारकर हवा में फायरिंग करते हुए उत्तर की दिशा में निकल गए, जिसको लेकर शंकरपुर कांड संख्या 75/17 के तहत गुड्डु यादव, लड्डु यादव, संतोष, सुंदर, नीतीश, प्रमोद, छोटू, सदानंद, दिनेश, रिपुसूदन पर केस दर्ज कर सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह छापेमारी किया जा रहा है.

लेकिन घटना के साढ़े तीन महीने बीतने के बावजूद भी ये सभी आरोपी पुलिस के पकड़ से दूर हैं, जो पुलिस की शिथिलता को दर्शाता है. नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होने की स्थिति में थानाध्यक्ष परसुंजय कुमार और एसआई रामविलास रमण ने पुलिस बल के साथ कुछ दिन पहले अभियुक्तों के घर पहुंच कर इश्तेहार साटकर सभी अभियुक्तों को जल्द पुलिसिया न्यायालय के समक्ष आत्मसमर्पण करने को कहा था. उन्होंने ये भी कहा था कि आत्मसमर्पण जल्द नहीं किया जाता है तो सभी अभियुक्तों के घर को कुर्की कर जब्त कर लिया जायेगा. लेकिन इश्तेहार साटने के बाद भी अभी तक अभियुक्त न ही पुलिस के पास और न ही न्यायालय में आत्मसमर्पण किया है.

जबकि थानाध्यक्ष शंकरपुर प्रसुन्जय कुमार कहते हैं कि अभियुक्त की गिरफ्तारी नहीं होने की स्थिति में अभियुक्त के घर की कुर्की हेतु न्यायालय में आवेदन दिया गया है. कुर्की के अनुमति मिलने के बाद सभी अभियुक्तों के घर कुर्की एवं जब्ती किया जायेगा.
 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...