12 सितंबर 2017

मुरलीगंज की घटना को लेकर मधेपुरा बंद: मंत्री ने कहा सरकार के खिलाफ साजिश

मुरलीगंज की घटना के विरोध में जहाँ मुरलीगंज पांच सितम्बर से ही अब तक बंद है वहीँ आज आन्दोलनकारियों के समर्थन में मधेपुरा में भी बंद का असर रहा.

हालाँकि मधेपुरा का बंद व्यापार संघ की तरफ से नहीं होकर विश्व हिन्दू परिषद् की तरफ से बताया गया. बताया गया कि बाद में व्यापार संघ के विरोध में भी कई दुकानदार तथा अन्य बाजार बंद कराने में शामिल हो गए.

मिली जानकारी के अनुसार कल जब मधेपुरा व्यापार संघ ने आज के मधेपुरा बंद का एलान किया तो विश्व हिन्दू परिषद् की तरफ से भी मधेपुरा बंदी के समर्थन की बात कही गई. पर देर रात व्यापार संघ ने मंत्री रमेश ऋषिदेव और जिले के आलाधिकारियों के साथ बैठक के बाद मांगे माने जाने की घोषणा करते बंद को वापस ले लिया. जिसके बाद आज सुबह विश्व हिन्दू परिषद् के कार्यकर्ता जब बाजार बंद कराने निकले तो मुरलीगंज के गिरफ्तार लोगों की रिहाई आदि की मांग को लेकर सैंकड़ों युवाओं ने भी उन्हें समर्थन देते सड़क पर प्रदर्शन किया. 

विश्व हिन्दू परिषद् के संजीव कुमार संजू ने कहा कि हम मुरलीगंज के गिरफ्तार निर्दोष लोगों की रिहाई समेत जिलाधिकारी और श्रीनगर थानाध्यक्ष के स्थानांतरण की मांग को लेकर बाजार को बंद किये हैं. 
मधेपुरा व्यापार संघ के साथ बैठक में अहम कड़ी अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण मंत्री रमेश ऋषिदेव से जब मधेपुरा टाइम्स ने यह जानना चाहा कि समझौते के बावजूद बाजार क्यों बंद है तो उन्होंने कहा कि जो लोग बंद करवा रहे हैं वो सरकार और प्रशासन को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं. जनता सब बात समझ रही है, नीतीश जी और हम लोग बिहार के विकास के लिए काम कर रहे हैं और कुछ लोग बदनाम करना चाह रहे हैं, इनसे कुछ होने वाला नहीं है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...