02 सितंबर 2017

‘अपने आकाओं को खुश करने के लिए किया मुझ पर हमला’: कन्हैया (वीडियो)

मधेपुरा के बिहारीगंज में जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को काला झंडा दिखाया और उनके काफिले पर पथराव किया गया जिसमें उनकी गाड़ी का सीसा फूट गया.
पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार बिहारीगंज प्रखंड अंतर्गत सरौनी एवं आदिवासी टोले में जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को आज 4:00 बजे शाम में पहुंचना था. रास्ते पर जाम के कारण वह शाम 6:30 बजे बिहारीगंज पहुंचे. बिहारीगंज के जवाहर चौक पर पहुंचते ही उनके सीपीआई समर्पित कार्यकर्ता एवं कन्हैया के काफिले पर उनके आरोप के मुताबिक भाजपा और RSS के कार्यकर्ताओं ने पूर्व से घात लगाकर ईंट और पत्थर बरसाने शुरू कर दिए. पुलिस कुछ क्षणों सब समझ ही नहीं पाई यह आखिर माजरा क्या हो रहा है और क्यों पत्थरबाजी शुरू हो गई. सीपीआई कार्यकर्ता जो तीर फट्टे के साथ काफिले में मौजूद थे मोर्चा संभालने की तैयारी करने लगे. इसी बीच संघ और बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर भी पत्थर को उठाकर कन्हैया के काफिले के लोग जी फेंकना शुरु किया. जमकर चली पत्थरबाजी के बीच पुलिस कुछ ना कर सकी. इसके बाद कन्हैया का काफिला थाना के बगल होकर निकलने वाले रास्ते से सारे गाड़ियों को लेकर सरौनी की तरफ बढ़ गया.
सरौनी में निखिल कुमार के घर पहुंचकर जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि मधेपुरा बहुत अच्छी जगह है, पर कुछ लोग इसे बदनाम करना चाहते हैं. पत्थरबाजी की निंदा करते हुए कहा कि हम किसी राजनीतिक पार्टी के मीटिंग में नहीं आए थे हम राहत बांटने आए थे और हम पर की गई पत्थरबाजी बिल्कुल ही अमानवीय है. ऐसे अमानवीय कार्य करने वाले अपने आकाओं को खुश करने के लिए हमारे काफिले पर हमला किया. यह निंदनीय है.
हमले के बाद बिहारीगंज थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार मुकेश, ग्वालपाड़ा थाना अध्यक्ष तथा बहुत सारे मीडियाकर्मी भी वहां पहुंच गए.
मौके पर सीपीआई के प्रमोद प्रभाकर राज्य कार्यकारिणी सदस्य, निखिल कुमार झा, प्रो देवनारायण पासवान, रमण कुमार, विद्याधर मुखिया, उमेश यादवमोती सिंह, मनोज राम विरेन्द्र मेहता, उमाकांत सिंह, विकास मेहता, बैजनाथ प्रसाद साह वसीम उददीन,संतोष कुमार, विभीषण कुमार, जयप्रकाश महतो, मोहम्मद सुलेमान, अंबिका मंडल, पवन कुमार सिंह, सिकंदर मंडल, आदि उपस्थित थे ।

सुनें कन्हैया को और देखें हंगामे का दृश्य इस वीडियो में, यहाँ क्लिक करें.

(घटनास्थल तथा सरौनी से लौट कर संजय कुमार के साथ अख्तर वसीम)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...