24 सितंबर 2017

'हर घर पहुंचे ज्ञान का प्रकाश': पूर्णियां में हुआ अटल टिंकरिंग लैब (ATL) का उद्घाटन

शिक्षा विकास की कुंजी है। किसी भी समाज एवं राष्ट्र के विकास में शिक्षा की भूमिका सर्वोपरि है। सच्ची शिक्षा के बिना विकास अधूरा है। 


यह बात बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा के कुलपति प्रोफेसर डॉ. अवध किशोर राय ने कही। वे रविवार को नीति आयोग, भारत सरकार के अंतर्गत संचालित अटल टिंकरिंग लैब के उद्घाटनकर्ता के रूप में बोल रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन विद्या विहार, पूर्णियां में किया गया था। 

कुलपति ने कहा कि हमारा बिहार आज शिक्षा के मामले में काफी पीछे है। हमें इस स्थिति को बदलना है। बिहार को शिक्षा के क्षेत्र में आगे लाना है। हर घर में ज्ञान का प्रकाश पहुंचाना है। बिहार के स्कूलों के स्तर को ऊपर उठाया जाए। सभी स्कूलों में पठन-पाठन के साथ-साथ खेलकूद एवं इनोवेशन की भी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं।

उन्होंने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य सिर्फ अक्षर  ज्ञान नहीं, बल्कि विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास है। इसलिए हमारे विद्यार्थी सिर्फ ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि खेलकूद सहित सभी क्षेत्रों में आगे बढें। सिर्फ सिलेबस पूरा कर अच्छा नंबर ही नहीं लाएं, बल्कि समाज के लिए उपयोगी आविष्कार भी करें। विद्यार्थी कक्षा के साथ-साथ प्रयोगशाला एवं  खेल के मैदान में भी आगे रहें ।

सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष डॉ. शिवमुनि यादव ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थान का असली परिचय उसके विद्यार्थियों से होती है। इस मामले में भी विद्या विहार आगे है। यहाँ के विद्यार्थियों ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं। अटल टिंकरिंग लैब भी उसी की एक कड़ी है। 

इस अवसर पर विद्या विहार के संस्थापक रमेश मिश्र, ज्वाइंट डायरेक्टर रंजीत पाॅल, प्रधानाचार्य मनीष कुमार, डॉ. अरविंद चौधरीपीआरओ डॉ. सुधांशु शेखर आदि उपस्थित थे।

[जानिए क्या है अटल टिंकरिंग लैब: The Government of India has setup the Atal Innovation Mission (AIM) at NITI Aayog. Realizing the need to create scientific temper and cultivate the spirit of curiosity and innovation among young minds, AIM proposes to support the establishment of a network of Atal Tinkering Laboratories (ATL).]

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...