09 सितंबर 2017

विधायक व मुखिया के खिलाफ भड़का जन आक्रोश: लोगों ने किया सड़क जाम

मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड के मधुबन गाँव में शनिवार को ग्रामीणों ने सड़क जाम किया। ग्रामीणों का गुस्सा बिहारीगंज विधायक निरंजन कुमार मेहता और मुखिया कुमुद कुमारी के विरुद्ध था ।


आक्रोशित लोगों ने विधायक और मुखिया के खिलाफ गुस्से में आकर जमकर नारेबाजी की.   आरोप है कि विधायक निरंजन मेहता के गाड़ी कमांडर से आकर उसका ड्राइवर बिपीन मेहता और उसका भाई सीपीन मेहता और विधायक के समर्थक गोपाल मेहता और पंकज मेहता ने प्रदर्शन कारी को डराया धमकाया और गाली गलौज भी किया. पर उग्र प्रदर्शन कर रहे लोगों ने अपने आक्रोश का खुलकर इजहार किया । इस दौरान उदाकिशुनगंज से मधुबन जाने वाली सड़क को  कंचन टोला में बजरंग बली मंदिर के पास ग्रामीणों ने दो जगह जाम कर यातायात को ठप कर दिया।   

सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीण का कहना था कि बिहारीगंज के जदयू विधायक निरंजन कुमार मेहता का गृह क्षेत्र मधुबन है। आजादी के बाद से पिछले सात दशक से इसी परिवार के लोगों ने मधुबन पंचायत को लूटने खसोटने का काम किया है। पिछले 15 वर्षों से लगातार तीन बार ग्रामीणों ने उन्हें मुखिया पद पर चुनाव जिताया। खुद विधायक बनने के बाद उन्होंने अपनी धर्मपत्नी को मुखिया पद से चुनाव लड़वाया और ग्रामीणों ने एक एक वोट देकर उन्हें भी मुखिया बना दिया। लेकिन इन सब के बाबजूद भी गाँव के लोग मूलभूत समस्याओं से परेशान हैं। 

प्रदर्शन कर रहे पप्पू मेहता, चंदन मेहता, संतोष कुमार मेहता, मंगल यादव, कुशो यादव, बिरजू राय, बिनोद मेहता, कमलेश्वरी मेहता, भूपेन्द्र मेहता, नरेश यादव, नवीन कुमार मेहता, कारी राय, बिको मेहता आदि ने बताया कि गाँव के सड़क पर पानी जमा है। सड़क पर जल जमाव से कंचन टोला के लोगों और खासकर बच्चे व महिलाओं को भारी परेशानी होती है। विधायक निरंजन कुमार मेहता और पंचायत की मुखिया सह विधायक की पत्नी से बार बार गुहार लगाने के बाद भी जल निकासी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गयी। सड़क जो बनी है वह भी अधूरी है और उसकी राशि उठा ली गई है। 

बाद में बीडीओ मुर्शीद अंसारी और दारोगा रामनिवास सिंह के हस्तक्षेप और समझाने बुझाने पर और आश्वासन के बाद किसी तरह ग्रामीणों ने जाम को तोड़ा।
(नि. सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...