08 अगस्त 2017

बिना ग्राहक के हस्ताक्षर और मर्जी के ही रूपये निकल गए बैंक से, बैंककर्मी पर आरोप



अगर आप बैंकों में अपनी जिन्दगी भर की कमाई रखकर अपने पैसों को सुरक्षित समझ रहे हैं तो ये सोचना कभी-कभी भारी पड़ जायेगा और आपकी जिंदगी भर की जमा-पूंजी बैंककर्मी के मिलीभगत से बिना आपकी मर्जी से निकल भी सकती है


ऐसा ही एक मामला मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड के बसनवाड़ा पंचायत के गणेश गुरू जी वासा निवासी सिकन्दर मंडल के साथ हुआ और अब वे इंसाफ के लिए दर-दर भटकते फिर रहे हैं । हालांकि सिकन्दर मंडल के द्वारा बैंक, बीडीओ, थाना, सहित अन्य वरीय पदाधिकारियों के यहाँ गुहार लगाया है । 

सिकन्दर मंडल ने अपने आवेदन में बताया है कि भारतीय स्टेट बैंक खुरहान शाखा में उसके बैंक खाता नं० 11863579544 से अवैध ढंग से बैंककर्मी की मिलीभगत से रूपये निकाला गया है । सिकन्दर मंडल ने बताया कि 12 जिले को 2124 (दो हजार एक सौ चौबीस रूपये ) आये जिसे 27 जुलाई को बगैर मेरे हस्ताक्षर से मेरा रूपया का निकासी कर लिया गया । पुनः 28 जुलाई को दो हजार एक सौ चौबीस रूपया खाता में आया. जब 31 जुलाई को चार हजार दो सौ रूपया निकासी किये जाने का मैसेज मोबाईल पर आया तो मेरा होश उड़ गया । इस संबंध में भारतीय स्टेट बैंक खुरहान को इस बाबत आवेदन देने गया तो वे आवेदन लेने से इनकार कर दिए एवं कहा कि यह मनरेगा का पैसा आया है, यह इसी तरह खाता में आता है एवं निकल जाता है । सिकन्दर मंडल ने कहा कि मेरा निजी रूपया भी निकासी कर लिया है तो बैंक कर्मी उसे अनसुना कर दिया । 

इस बाबत सिकन्दर ने आलमनगर बीडीओ सहित अन्य वरीय पदाधिकारी को आवेदन दे कर दोषी बैंक कर्मी एवं बिचैलियों पर उचित कारवाई की माँग की, जिसकी भनक बैंककर्मी को लगी  तो दो अगस्त को बैंक कर्मी द्वारा सिकन्दर मंडल के खाता में चार हजार दो सौ रूपया जमा कर दिया । एवं सिकन्दर मंडल को पंचायत के लोगों एवं बैंक कर्मियों द्वारा मामला को वापस लेने के दबाव के साथ-साथ तरह-तरह के प्रलोभन दिये जाने लगे । 

इस बाबत बीडीओ आलमनगर, मिमन्हाज अहमद ने बतया कि मामला संगीन है । बैंक प्रबंधक खुरहान से इस मामले में लिखित रूप से स्पष्टीकरण पूछा गया है और जांच के बाद सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी । मामले को आगे बढ़ता देख बैंक के कर्मचारी ने अपनी गलती मानते हुए आवेदक सिकन्दर मंडल को हर तरह से रफा-दफा करने की कोशिश की.

आवेदक का कहना है कि उक्त बैंक कर्मचारी के मिलीभगत से पंचायत के दलालों द्वारा मजदूरों के खाता से पैसा निकासी का धंधा किया जाता है । एसबीआई खुरहान के प्रबंधक श्याम सुन्दर चौधरी ने बताया कि मामले की जाँच के बाद ही खुलासा हो पायेगा । 
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...