15 अगस्त 2017

मंडल विश्वविद्यालय में विकास की अपार संभावनाएं: कुलपति

हम सभी मिलकर अपने-अपने दायित्वों का सम्यक् निर्वहन करें, तो जल्द ही यह विश्वविद्यालय राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त करेगा। यहाँ विकास की  असीम संभावनाएं है।

कुलपति ने विश्वविद्यालय में झन्डोतोलन करते हुए कहा कि बीएनएमयू को राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित करना ही उनका एक मात्र लक्ष्य है। इसके लिए वे विश्वविद्यालय का नैक से मूल्यांकन कराएंगे। सभी कालेजों को नैक मूल्यांकन के निर्देश दिये गये हैं। सभी काम इसी को ध्यान में रखकर किये जा रहे हैं।
कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन सभी काम पारदर्शी एवं लोकतांत्रिक ढंग से नियमों-परिनियमों के अनुरूप करने हेतु प्रतिबद्ध है। सभी काम संबंधित समितियों एवं निकायों की सहमति से किए जाएंगे। 
कुलपति  ने अपने कार्यकाल के चंद दिनों बाद नये परिसर में 9 स्नातकोत्तर विभागों को शिफ्ट  करने को अपनी बड़ी उपलब्धि बताया और इसके लिए सभी संबंधित शिक्षकों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि नया परिसर पूरी तरह सुरम्य और प्राकृतिक वातावरण में स्थित है। वहां की आबो-हवा अध्ययन-अध्यापन के लिए काफी अनुकूल है। वहां सभी जरूरी सुविधाओं की बहाली की जाएगी। वहां स्थिति परीक्षा भवन में इन्फ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराने हेतु राज्य सरकार से आश्वासन मिला है। वहां विद्यार्थियों की सुविधाओं के लिए बस सेवा की शुरूआत की जाएगी। एक राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खुलवाई जाएगी। साथ ही विश्वविद्यालय का एक काउंटर भी खोला जाएगा ।

कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय में बुनियादी सुविधाओं की समुचित व्यवस्था की जा रही है। भवनों की मरम्मति और  परिसर की साफ-सफाई  एवं सौन्दर्यिकरण के कार्य जारी हैं। सबों के लिए स्वच्छ  शौचालय एवं शुद्ध  पेयजल उपलब्ध कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। विद्यार्थियों के लिए साइकिल-मोटर साइकिल स्टेंड बनाए गये हैं। छात्राओं के हॉस्टल को शीघ्र चालू किया जाएगा।
कुलपति ने कहा कि वे विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं शोध के अवसर उपलब्ध कराने हेतु प्रतिबद्ध हैं। पठन-पाठन को सुव्यवस्थित करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। सभी स्नाकोत्तर विभागों एवं कालेजों को ससमय कक्षाओं के सुचारू संचालन हेतु निर्देश दिये गये हैं। विभागों एवं कालेजों में विद्यार्थियों की उपस्थिति बढी है। विद्यार्थियों को शोध कार्य में हो रही परेशानी को दूर करपे का प्रयास किया जा रहा है।
शैक्षणिक माहौल को जीवंत बनाने के लिए विभिन्न कालेजों एवं स्नातकोत्तर विभागों में सेमिनार, कान्फ्रेंस एवं वर्कशॉप आदि के आयोजन किये जाएंगे। कई जगहों पर इसकी शुरुआत हो चुकी है.

मालूम हो कि कुलपति ने पूर्वाह्न 9.15 बजे अपने आवासीय कार्यालय परिसर में और 9.30 बजे प्रशासनिक कार्यालय परिसर में झंडोत्तोलन किया।
इसके पूर्व झंडोत्तोलन कार्यक्रम की शुरूआत पूर्वाह्न 8.15 बजे नये कैम्पस से हुई। वहां प्रतिकुलपति प्रोफेसर डॉ. फारूक अली ने झंडोत्तोलन किया। नये परिसर में पहली बार हो रहे झंडोत्तोलन को लेकर काफी उत्साह दिखा। प्रतिकुलपति ने कहा कि सभी लोग विश्वविद्यालय के विकास हेतु प्रतिबद्ध रहें। सभी  सत्य का साथ दें और ईमानदारीपूर्वक अपनी जिम्मेदारियों को निभाएँ।

विश्वविद्यालय  परिसर में पूर्वाह्न 10.05 बजे पीजी संघ में,10.15 बजे, शिक्षक संघ भवन में, 10. 30 बजे सेवानिवृत्त शिक्षक कल्याण समिति कार्यालय में और पूर्वाह्न 10.45 बजे शिक्षकेत्तर कर्मचारी संघ भवन में झंडोत्तोलन किया गया। कुलपति एवं प्रतिकुलपति भी इन समारोहों में शामिल हुए। शिक्षक संघ के नेताओं, सेवानिवृत्त शिक्षकों और कर्मचारियों ने भी कुलपति-प्रतिकुलपति के प्रयासों की सरहना की और हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...