04 अगस्त 2017

प्रखंड कार्यालय परिसर के स्कूल का हाल: बच्चे तो आते हैं पर शिक्षक ही रहते हैं गायब

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड कार्यालय परिसर में स्थित स्कूल प्राथमिक विद्यालय में के बच्चों ने शिक्षकों के ही नहीं पहुँचने पर बच्चे स्कूल छोड़कर वापस चले गए.


बच्चों ने बताया कि हम लोग सुबह 9:00 बजे आते हैं पर शिक्षक 12:00 बजे दिन में आते हैं और कभी नहीं भी आते हैं । गुस्साए बच्चों ने शिक्षकों के खिलाफ जमकर विरोध किया। छात्र-छात्राओं ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक को स्थानांतरित करने, मध्याह्न भोजन को नियमित व मेनू के अनुरूप उपलब्ध कराने, विद्यालय में शिक्षकों की ससमय उपस्थिति के साथ पठन-पाठन को दुरुस्त करने की माँग रखी । आक्रोश में वर्ग पांच की छात्रा कल्पना कुमारी तथा अन्य ने कहा कि हम सुबह नौ बजे स्कूल आए पर शिक्षक वहाँ उपस्थित नहीं थे । 11:00 बजे तक शिक्षकों का इंतजार किया पर कोई भी शिक्षक नहीं आए । 11 बजे मात्र एक शिक्षक विद्यालय पहुँचे । कल्पना ने बताया कि जब हम लोग स्कूल लेट से पहुँचते हैं तो शिक्षक छड़ी से मारते हैं, आज जब कोई शिक्षक नहीं आये तो आज हम लोग क्या करें?

जिस समय बच्चे स्कूल से वापस जा रहे थे उस समय स्कूल में 11:00 बजे मात्र एक शिक्षक मोहम्मद इजहार आलम मौजूद थे । पूछने पर उन्होंने जानकारी दी कि स्कूल में 5 शिक्षक मौजूद हैं, प्रधान सहित. उपस्थिति पंजी के अनुसार उपेंद्र पासवान जो विद्यालय प्रधान हैं, उनकी उपस्थिति नहीं बनी थी, और ना ही आकस्मिक अवकाश लिखा हुआ था । दूसरे शिक्षक मोहम्मद मसरूर हक की उपस्थिति भी नहीं बनी थी । श्रीमती अर्चना कुमारी की उपस्थिति भी नहीं बनी हुई थी और न ही विभूति कुमार की उपस्थिति बनी हुई थी । सारे शिक्षक दिन के 12:00 बजे तक स्कूल में मौजूद नहीं थे । स्कूल में कुल 5 शिक्षक में से सिर्फ एक मौजूद थे ।

गौरतलब हो कि प्रखंड कार्यालय परिसर में स्थित स्कूल जहाँ प्रखंड के विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी मौजूद रहते हों वहाँ शिक्षक समय पर विद्यालय नहीं पहुंचते हैं, तो बाकी जगहों की स्थिति क्या होगी, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है.  

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...