10 अगस्त 2017

विद्यालय परिसर में जलजमाव से पीड़ित छात्रों की उपस्थिति पर प्रतिकूल असर

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज में बुधवार को रात के 12:00 बजे से लगातार हुई मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कई स्कूलों में पानी भर गया है.


मुरलीगंज नगर पंचायत स्थित सोनी मध्य विद्यालय का पूरा परिसर जलमग्न हो गया है. विद्यार्थियों को घुटनेभर से ज्यादा पानी पार कर वर्ग कक्ष में जाना पड़ रहा है. स्कूल का पूरा परिसर पानी से डूब गया है. इसके वजह से बच्चों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वैसे तो मुरलीगंज प्रखंड क्षेत्र के कई ऐसे विद्यालय है जहां विद्यालय परिसर में जल-जमाव होने से बच्चों को काफी फजीहत का सामना करना पड़ रहा है. कुछ इसी तरह का नजारा नगर के चंद्रमणि कन्या मध्य विद्यालय में देखने को मिल रहा है. जहां विद्यालय परिसर के चारों तरफ जलजमाव हो जाता है. विद्यालय के मुख्य द्वार से बच्चे घुटने भर पानी पार कर विद्यालय के कमरे में पहुंच रहे हैं. ऐसे में छात्रों एवं अभिभावकों को जीव-जंतुओं का भय तो सता ही रहा है वहीं संक्रामक बीमारियों का भी भय सताने लगा है. प्रखंड क्षेत्र के विद्यालय के भवनों का हाल तो कमोबेश अच्छा है लेकिन बरसात में विद्यालय के परिसर में जल-जमाव हो जाने से छात्रों एवं शिक्षकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के बच्चों को भी विद्यालय मैदान में पानी भरे रास्तों से गुजरना पड़ता है. बारिश और विद्यालय परिसर में जलजमाव होने के कारण विद्यालयों में छात्रों की उपस्थिति कम होने लगी है.

सोनी मध्य विद्यालय काशीपुर के छात्र-छात्राओं ने बताया के कि हल्की बारिश होने पर भी यहां जल-जमाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है. यहां वर्ग 1 से लेकर 8 तक के 940 छात्र नामांकित है. जिसमें आज 510 बच्चे उपस्थित थे इसी परिसर में बीआरसी कार्यालय भी मौजूद है. लोगों की मानें तो विद्यालयों में जल-जमाव का मुख्य कारण सड़क से विद्यालय का जमीन का स्तर नीचे होना बताया जाता है. प्रधानाध्यापक सुकेन्द्र मुखिया ने बताया कि छोटे-छोटे बच्चों को आने में काफी कठिनाइयां होती है. बड़े बच्चे भी पानी में फिसलने के डर से स्कूल नहीं आते है. आज उपस्थिति अन्य दिनों की अपेक्षा कम थी हमने वरीय पदाधिकारी को इसकी सूचना दी है.

प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी राम गुलाम गुप्ता ने बताया कि, क्योंकि पानी की निकासी नहीं है और चारों तरफ का गंदा पानी तथा बारिश का पानी विद्यालय परिसर ही आता है और मुरलीगंज नगर पंचायत द्वारा नाली की व्यवस्था सड़क के इस तरफ नहीं है, जिसके कारण जल-जमाव की समस्या उत्पन्न हो जाती है और बच्चों के लिए परेशानी का सबब बन जाता है. हमने पिछले बार भी 20 ट्रेलर मिट्टी विद्यालय परिसर में डलवाए थे, देखते हैं इस बार हम क्या व्यवस्था कर पाते हैं ।
 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...