26 अगस्त 2017

जर्जर पोस्ट ऑफिस भवन दे रहा दुर्घटना को आमंत्रण, कभी हो सकता है हादसा

मधेपुरा जिले के गम्हरिया प्रखंड क्षेत्र में चल रहे पोस्ट ऑफिस का भवन इस तरह जर्जर हो चुका है कि यहाँ कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है.


हैरत की बात तो यह है कि इस सम्बन्ध में विभाग को कई बार जानकारी देने के बाद भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है और जाहिर है ऐसे में यदि कोई हादसा होता है तो इसकी पूरी जवाबदेही विभाग पर होगी. 

मिली जानकारी के अनुसार गम्हरिया प्रखंड क्षत्रे के पोस्ट ऑफिस का निर्माण 12 मई 1992 को डाक महाध्यक्ष भगवान दास टेकरीवाल के द्वारा किया गया था, जिसके बाद से भवन निर्माण के बाद पोस्ट ऑफिस का काम शुरू हो गया था. मगर बीते 25 साल से भवन में दरारें व भवन के छत से चट्टे गिरने शुरू हैं और उसी जर्जर  भवन मे में काम करने को मजबूर हैं कर्मी. खतरों के बीच काम कर रहे कर्मी कहते है कि बरसात के समय बारिश का पानी भवन से इस कदर टपकता है कि लगता है फूस के घर मे काम कर रहे हैं. पोस्ट ऑफिस में अपने काम को लेकर आते ग्राहकों ने भी बताया कि यहां काम करवाने भी जान हथेली पर रख कर आते हैं।
यही नहीं, इसी में बने रेसिडेंशियल रुम की भी यही स्थिति बनी हुई है. बरसात के मौसम में छत में प्लास्टिक लगाना पड़ता है तब सोने की स्थिति बन पाती है.

पोस्टऑफिस में कार्यरत पोस्ट मास्टर वीरेंद्र कुमार कहते हैं कि जर्जर भवन के बारे में कई बार विभाग को जानकारी दी गई है मगर कोई भी संतुष्ट जवाब नहीं दिया जा रहा है. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...