18 अगस्त 2017

मुरलीगंज इलाके में जल स्तर घटा: पर अब सामान्य होने लगी जिंदगी

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में जल स्तर नीचे आने पर आग यातायात के साथ-साथ आम जनजीवन को भी राहत पहुंचने लगा है.
 
आज सुबह जिला पदाधिकारी मो. सोहेल द्वारा  सभी राहत शिविरों की जांच की गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए. 

आज कुसहा त्रासदी की बरसी है और लोगों को बाढ़ के भय से अब निजात मिलने लगा है. मुरलीगंज-मधेपुरा मार्ग पर मीरगंज चौक के पास पड़े हुए जल स्तर में कमी देखी जा रही है. पूरी तरह आवागमन बहाल तो नहीं हुआ है पर आम जनता सड़क पर पैदल ही चल रहे हैं. क्योंकि पानी में तेज बहाव नहीं रह गया है. जल स्तर में कमी आने पर आप लोगों के घरों से भी पानी निकलना धीरे धीरे प्रारंभ हुआ है. 

मुरलीगंज के जोरगामा पंचायत मुरलीगंज नगर पंचायत रामपुर रजनी प्रताप नगर गंगापुर कोल्हापुर पट्टी डुमरिया आदि जगहों पर जल स्तर में कमी आ रही है पर कृषि आधारित क्षेत्र होने के कारण किसानों की तो मानो मौत ही हो गई.

धान की हजारों हेक्टेयर फसल बिल्कुल ही बर्बाद हो गई है. कल मुरलीगंज प्रखंड के जोरगामा रामपुर मुरलीगंज नगर पंचायत के अंतर्गत के पी महाविद्यालय में सर्वप्रथम राहत शिविर खोला गया, जिसे जिला प्रशासन द्वारा जारी ही रखा जा रहा है. मुरलीगंज के पी महाविद्यालय में कैंप इंचार्ज के रूप में कृषि पदाधिकारी विनोद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि रात में 291 बाढ़ पीड़ितों को भोजन करवाया गया था. अभी दिन में 400 व्यक्तियों का भोजन तैयार करवाया जा रहा है. जोरगामा मध्य विद्यालय में सरकारी पदाधिकारी के रूप में मनरेगा पदाधिकारी दिनेश मांझी ने बताया कि अनवरत लोगों को भोजन एवं अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है. मुरलीगंज के पी महाविद्यालय में मुरलीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ओर से डॉक्टर लाल बहादुर, एएनएम शैल कुमारी, ईएनटी प्रदीप कुमार द्वारा बाढ़ पीड़ितों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा रहा था वह बीमार एवं बुजुर्गों को आवश्यक दवाइयां दी जा रही थी.

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरलीगंज की दूसरी टीम के सदस्य जोरगामा  मिडिल स्कूल पर कैंप कर बाढ़ पीड़ितों के स्वास्थ्य परीक्षण कर रहे थे जिसमें डॉक्टर संजीव कुमार डॉक्टर संजय कुमार सुधांशु फार्मासिस्ट अजय कुमार और एएनएम जय भारती कुमारी कैंप कार बाढ़ पीड़ितों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा था.
चारों तरफ पानी से घिर जाने के कारण मुरलीगंज प्रखंड में मवेशियों के चारे के लिए हाहाकार मचा हुआ है पशुपालकों के चारे डूब चुके हैं.
बीमार पशुओं के इलाज के लिए मुरलीगंज पशु चिकित्सा केंद्र के डॉक्टर अताउर रहमान के नेतृत्व में 3:00 राहत कैंप जाकर एवं सड़क के किनारे रहे बीमार पशुओं के इलाज कर रहे थे. डॉक्टर अनिल प्रसाद डॉक्टर कार्तिक पूर्वे रामपुर एवं जोरगामा  दी कैंप लगाकर पशुओं का इलाज कर रहे थे ।
मधेपुरा जिले के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव द्वारा बाढ़ पीड़ितों के बीच आज राहत सामग्रियां बांटी जा रही है. मुरलीगंज के नगर पंचायत के वार्ड नंबर 1 के बाढ़ पीड़ितों के बीच वार्ड पार्षद सह सांसद प्रतिनिधि रामजी साह के आवास पर जनाधिकार पार्टी के सौजन्य से 200 लोगों के बीच राहत सामग्री बांटी गई. मौके पर जन अधिकार पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष प्रवेश यादव युवा जनशक्ति के प्रखंड अध्यक्ष प्रशांत यादव जन अधिकार पार्टी के अनुसूचित जाति जिला प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष श्याम आनंद, मुरलीगंज वार्ड नंबर 7 के पार्षद सह चेंबर ऑफ कॉमर्स के उपाध्यक्ष दिनेश मिश्रा उपस्थित थे.

मुरलीगंज नगर पंचायत के वार्ड नंबर 3 में मंजुर आलम द्वारा जन अधिकार पार्टी के सौजन्य से राहत समितियों का वितरण किया गया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...