16 अगस्त 2017

मुश्किलों में आलमनगर: सांसद ने किया दौरा, राहत शिविर के लिए दिए एक लाख रूपये

मधेपुरा सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड में आये बाढ़ का जायजा लिया । इस दौरान वे बाढ़ पीड़ितों से मिलकर उनके परेशानियों से अवगत हुए और समस्याओं का निदान करने का आश्वासन दिया । 


सांसद ने बाढ़ की विनाशलीला को देखते हुए अपने मद से स्थानीय सोनामुखी में तत्काल राहत शिविर शुरू कराने के लिए मुखिया प्रतिनिधि बमबम भगत को एक लाख रूपया दिया तथा और देने का आश्वासन दिया. उन्होने कहा कि बाढ़ पीड़ित को दो वक्त का भोजन इस राहत केंद्र से  दिया जायेगा । सांसद ने क्षेत्र में आये प्रलंयकारी बाढ़ का कपसिया, मुरौत, खापुर, भवानीपुर वासा, ललिया, छतौनावासा, सोनामुखी सहित अन्य जगहों के जायजा लेने के दौरान अधिकारियों को कई जगहों पर नाव देने का निर्देश दिया । साथ ही सरकार द्वारा रतवारा स्कूल पर राहत शिविर का भी जायजा सांसद ने लिया । 

उन्होने कहा कि सरकार बाढ़ के स्थायी निदान के प्रति गंभीर नहीं हैं । समस्या के पहले सरकार नहीं सोचती है । समस्या आ जाने पर हायतौबा मचाती है । सरकार के द्वारा चापाकल की व्यवस्था नहीं की गई है लोग गंदे पानी पीने को मजबूर हैं । क्षेत्र में नाव की प्रयाप्त व्यवस्था नही की गई और बाढ़ के नाव पर राशि की लूट अधिकारी के द्वारा करने तथा क्षेत्र के लोगों को स्थायी बाढ़ से निजात दिलाने का मुद्दा  लोकसभा में पुरजोर तरीके से उठाउॅंगा. 

कहा कि हवाई सर्वे से काम नहीं चलेगा । जमीनी सर्वेक्षण करें तब हकीकत सामने आएगी । सरकार बाढ़ को उत्सव की तरह लेता है क्योंकि इसमें नेता पदाधिकारियों एवं दलालों के लिए यह लूटने का उत्सव हो गया है । बाढ़ पीड़ित भगवान भरोसे है । रिलीफ बढ़ाने की जरूरत है । बाढ़ की भयावहता से अंदाजा लगाया जा रहा है कि बाढ़ क्षेत्र में नाव की और जरूरत है. छोटे-छोटे टोले पर लोग फंसे हैं. डाक्टर की कमी है चापाकल डूब गया है, राहत कैम्प जगह-जगह खोलना की जरूरत है । 

इस दौरान जयप्रकाश सिंह, जाप के प्रदेश महासचिव अखिलेश यादव, सांसद प्रतिनिधि सुनील सिंह,यु वा अध्यक्ष अरविन्द यादव, चंदेश्वरी राम, जाप प्रखंड अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह,सांसद प्रतिनिधि रामकुमार यादव, मोहन मंडल,अनिल अनल, जिलापार्षद सदस्या रेखा देवी, ई0 नवीन कुमार, प्रभाष पासवान, अजय सिंह, मुखिया मुकेश कुमार मुन्ना, मुखिया प्रतिनिधि बमबम भगत, सीओ विकास सिंह, सरपंच प्रतिनिधि मनोज शर्मा सहित कई लोग मौजूद थे ।

बता दें कि आलमनगर प्रखंड के रतवारा, खपुर, गंगापुर, इटहरी, बडगाँव, भागीपुर नरथुआ तथा पूर्वी व उत्तरी आलमनगर पंचायत के सैंकड़ों घर बाढ़ की चपेट में बुरी तरह हैं और चारों तरफ तबाही का मंजर नजर आता है. वर्ष 2008 में बने बाढ़ आश्रय स्थल और रतवारा आदि के एपीएचसी में भी पानी का प्रकोप है.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...