24 अगस्त 2017

सांसद पप्पू यादव ने अधिकारियों के साथ बैठक में राहत को बताया नाकाफी

मधेपुरा में बाढ़ को लेकर डीएम सभागार में मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने बुधवार को सभी पदाधिकारियों के साथ बैठक किया और बाढ़ में हुए क्षति का जायजा लिया.


 जिसके बाद उन्होंने बाढ़ में हुए क्षति को जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि हम सब को मिल कर प्रयास करना चाहिए पर कहीं पर लगता है कि इसमें सामंजस्य की कमी है. ऊपर से निचले स्तर ट्रांसपरेंसी नहीं होने के कारण ये सब दिक्कत आ रही है. मुझे लगता है कि हमें किसी पदाधिकारी को दोषी नहीं ठहराना चाहिए. लेकिन सरकार दोषी जरूर है. कहीं भी शिविर नहीं है, है भी तो आंशिक रूप से वो भी कहीं-कहीं पर. उन्होंने कहा कि बाढ़ में जो आश्रय बना है उसका कहीं भी उपयोग नहीं हो रहा है. बाढ़ आश्रय वालों की स्थिति बहुत ही खराब है. करोड़ों का घोटाला हुआ है, कहीं डॉक्टर नहीं है. कई लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है. बधाई देता हूँ प्रधानमंत्री को. मैं 25 और 29 अगस्त के बीच हाईकोर्ट में एफआइआर करने जा रहा हूँ कि हम कब तक यूँ ही मरेंगे. कोशी सीमांचल और मिथलांचल के लोग कब तक यूँ ही सुविधाओं से मरहूम रहेंगे. खाने तक के लिए आप नहीं पहुंचा रहे हैं चार-पांच किलो अनाज देकर कह रहे हैं घर जाइए. अब पैसा वसूलने की तैयारी हो गई है, कर्मचारी और मुखिया जी मिलकर इंदिरा आवास के नाम पर सब लूट रहे हैं .

उन्होंने कहा कि मधेपुरा की स्थिति बहुत बदतर हो गई है, जानवर से भी बदतर. एक कलेक्टर के अच्छा होने से क्या होगा, मुख्यमंत्री जी गांव में जा कर देखिए तब पता चलेगा गांव की स्थिति क्या है हमारी लड़ाई 29 तारीख से चालू होगी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...