20 अगस्त 2017

मधेपुरा: दारोगा पर दबंगई का आरोप लगाकर ग्रामीणों ने घेरा ओपी, बनाया पुलिस को बंधक



मधेपुरा जिले के घैलाढ़ थाना क्षेत्र के परमानन्दपुर के ओपी अध्यक्ष पर दबंगई और पॉवर के  दुरूपयोग का आरोप लगाकर ग्रामीणों ने ओपी घेरकर सभी पुलिस कर्मियों को बंधक बना लिया.

मिली जानकारी के अनुसार भतरंधा परमानपुर पंचायत के वार्ड नंबर 12 में शुक्रवार को सलहेस स्थान पर एक पेड़ था, जिसको ग्रामीणों द्वारा बेचने की बात चल रहा था कि इसे बेच कर सलहेस स्थान का घर बनाया जाए ।

बात चल ही रहा था कि इसी बीच वेदिन पासवान वहां लाठी लेकर लड़ाई के लिए उतारू हो गया  और ग्रामीणों को गाली गलौज देना शुरू कर दिया। इसी पर ग्रामीण और वेदिन पासवान के बीच नोकझोंक होना शुरु हो गया । फिर ग्रमीणों द्वारा  मामला को  शांत किया गया ।
उधर वेदिन पासवान ने थाना अध्यक्ष रणवीर राउत को बुलाकर रुदल पासवान को गिरफ्तार करवा दिया ।  लोगों का कहना था कि वेदिन पासमान ओपी का गाड़ी चलाता है इसलिए अपना पावर का यूज़ किया बिना आवेदन के ही रुदल पासवान को गिरफ्तार करवा कर हाजत में बंद करवा दिया है.  ग्रामीणों ने बताया कि यहां 40 घंटा से ज्यादा बीतने को है अभी तक उस को हिरासत में ही रखे हुए है.

 इसी मामले को लेकर थानाध्यक्ष रणवीर कुमार रावत के विरुद्ध आक्रोशित महिलाओं व पुरूषों ग्रामीणों ने थाना का घेराव कर घंटों सड़क जाम कर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान गुस्साए लोगों ने थाना अध्यक्ष और थाना के ड्राइवर के खिलाफ नारेबाजी करने लगे तो वहीं ग्रामीणों ने थाना के पुलिस पदाधिकारी से लेकर चौकीदार तक को बंधक बनाए रखा.
 घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे घैलाढ़ थाना अध्यक्ष राजेश चौधरी अपने दल बल के साथ परमानन्दपुर ओ पी परमानपुर ओपी पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन ग्रामीण उच्च अधिकारी को मंगवाने की बात पर अड़े रहे.

मौके पर पहुंचे एसपी राजेश कुमार व इंस्पेक्टर ज्योतिष कुमार ने ग्रामीणों के साथ बैठकर  समझा-बुझाकर मामला को किसी तरह शांत किया और ग्रामीणों को उचित कार्रवाई का  आश्वासन देकर बंधक बने ओपी अध्यक्ष रणवीर कुमार राउत को मुक्त कराया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...